ताज़ा खबर
 

Video: विवादित ढांचे को बाबरी मस्जिद कहने पर भड़के राकेश सिंहा, बोले-तब तो नेहरू पर भी चले केस

तब तो 1949 में जिन लोगों ने ताला खोला था उनपर भी षड्यंत्र का केस कीजिए, जवाहर लाल नेहरू पर केस कीजिए।
Author May 31, 2017 06:19 am
संघ विचारक राकेश सिन्हा।

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती तथा नौ अन्य के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने मंगलवार को आरोप तय करने का आदेश जारी किया। इस पूरे मुद्दे पर टीवी चर्चा को दौरान गर्मागर्म बहस देखने को मिली। 6 दिसंबर 1992 को कारसेवकों द्वारा बाबरी मस्जिद को ढहाने को लेकर चल रहे इस केस में  अपनी बात रखते हुए मशहूर वकील जफरयाब जिलानी और संघ विचारक राकेश सिंहा में तीखी बहस हो गई। विवादित ढांचे को बाबरी मस्जिद कहने पर राकेश सिंहा भड़क गए और उन्हें कहा कि उसके कोर्ट ने विवादित ढांचा कहा है मस्जिद नहीं कहा है।  तब तो 1949 में जिन लोगों ने ताला खोला था उनपर भी षड्यंत्र का केस कीजिए, जवाहर लाल नेहरू पर केस कीजिए। इस पर जवाब देते हुए जिलानी ने कहा कि 1994 से लेकर आज तक सुप्रीम कोर्ट ने हर फैसले में इसे बाबरी ढांचा कहा गया है।

इससे पहले कोर्ट ने इस पूरे मसले में सभी 12 आरोपियों ने खुद को बेकसूर बताया और अपने खिलाफ लगे आरोपों को खारिज करने के लिए अदालत में एक अर्जी दाखिल की। विशेष न्यायाधीश एस.के.यादव ने याचिका खारिज करते हुए सभी 12 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय करने का आदेश दिया। हालांकि बाद में सभी आरोपियों को 20-20 हजार रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दे दी है।

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग