ताज़ा खबर
 

विदेशी हैंडल्स से रिट्वीट हो रहे राहुल के ट्वीट्स! स्मृति की चुटकी- रूस में चुनाव जीतेगी कांग्रेस

ट्विटर पर राहुल गांधी की बढ़ी सक्रियता को उस न्यूज रिपोर्ट से जोड़कर देखा जा रहा है जिसमें दावा किया गया था कि कांग्रेस ने एक रणनीति के तहत अमेरिका की दिग्गज डेटा एनालिटिक्स फर्म कैम्ब्रिज एनालिटिका को हायर किया है।
हाल के दिनों में राहुल गांधी ट्विटर पर बेहद सक्रिय दिख रहे हैं, तो बीजेपी अमेठी में स्मृति ईरानी को राहुल के मुकाबले आगे कर रही है।

हाल ही में खबर आई थी कि पिछले कुछ सप्ताह में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ट्विटर पर बेहद लोकप्रिय हो गये हैं। राहुल के कुछ ट्वीट्स को सबसे ज्यादा लोगों ने रिट्वीट किया है। राहुल ने इस मामले में पीएम नरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल को भी पीछे छोड़ दिया है। हालांकि समाचार एजेंसी ANI ने एक रिपोर्ट जारी करके आशंका जताई है कि राहुल के ट्वीट्स के इतने ज्यादा रिट्वीट्स होने के पीछे ‘बॉट्स’ हो सकते हैं। बॉट्स दरअसल ऐसे कम्प्यूटर एपलीकेशन या सॉफ्टवेयर हैं जो ऑटोमैटिक ढंग से बताये गये टास्क को पूरा करते हैं। राहुल के ट्वीट्स को रिट्वीट करने में बॉट्स की भूमिका की आशंका इसलिए भी जताई जा रही है क्योंकि उनके कई ट्वीट्स कजाकिस्तान, रूस और इंडोनेशिया के लोकेशन से रिट्वीट हुए हैं। इस बात को लेकर केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी पर निशाना साधा है।

स्मृति ने कहा है कि लगता है राहुल गांधी अब कजाकिस्तान, रूस, इंडोनेशिया में चुनाव जीतने की तैयारी कर रहे हैं। स्मृति ने लिखा, ‘शायद ऑफिस ऑफ आरजी रूस, इंडोनेशिया और कजाकिस्तान में चुनाव जीतने की तैयारी कर रहे है।’ एनएनआई के मुताबिक राहुल गांधी के ट्वीट को रिट्वीट करने वाले कई ट्विटर हैंडर विदेशी हैं। राहुल गांधी के ट्वीट को कजाकिस्तान, रूस और इंडोनेशिया में रिट्वीट किया जा रहा है। रिपोर्ट में आशंका जताई गई है कि क्या राहुल गांधी के ट्वीट को बॉट्स रिट्वीट कर रहे हैं? मसलन- 15 अक्टूबर को राहुल गांधी के ट्विटर हैंडल ऑफिस ऑफ आरजी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के एक ट्वीट पर रिट्वीट करते हुए लिखा कि पीएम मोदी को थोड़ी जल्दबाजी करनी चाहिए और राष्ट्रपति ट्रम्प को एक झप्पी देनी चाहिए क्योंकि उनका झुकाव पाकिस्तान की ओर बढ़ रहा है। इस ट्वीट को तुरंत ही 20 हजार रिट्वीट मिल गये। अभी तक इस ट्वीट को 30 हजार से ज्यादा बार रिट्वीट किया गया है।

एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, जिन हैंडल से राहुल के ट्वीट्स को रिट्वीट किया गया है, उनमें से कई हैंडल के फॉलोअर्स 10 से भी कम हैं। इसके अलावा इन ट्विटर हैंडल से कोई ट्वीट भी नहीं किया गया है। ये हैंडल ज्यादातर रिट्वीट करने का ही काम करते हैं। बता दें कि ट्विटर पर राहुल गांधी की बढ़ी सक्रियता को उस न्यूज रिपोर्ट से जोड़कर देखा जा रहा है जिसमें दावा किया गया था कि कांग्रेस ने एक रणनीति के तहत अमेरिका की दिग्गज डेटा एनालिटिक्स फर्म कैम्ब्रिज एनालिटिका को हायर किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को राष्ट्रपति चुनाव जितवाने में इस कंपनी का अहम योगदान था। ये कंपनी यूजर बिहेवियर का अध्ययन कर मतदाताओं को लुभाने के लिए सटीक डिजिटल कैंपेन तैयार करती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    Rahul
    Oct 21, 2017 at 5:30 pm
    है. मोदी की रखेल
    (0)(0)
    Reply