ताज़ा खबर
 

बड़े गुस्‍से में पीएम नरेंद्र मोदी ने द‍िया र‍िएक्‍शन- गाय के नाम पर इंसान मार देते हैं, यही गौरक्षा है? लोग पूछे रहे- एक्‍शन तो बताइए

पीएम मोदी ने साफ लहजे में कहा, "गौभक्ति के नाम पर लोगों की हत्या स्वीकार नहीं की जाएगी।"
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (Source: PTI)

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी द्वारा स्थापित साबरमती आश्रम के 100 साल पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गौरक्षा और गौभक्ति के नाम पर भीड़ द्वारा लोगों के मारे जाने पर गहरी नाराजगी जताई है। उन्होंने गुस्से में कहा कि इंसानों को मारना गौभक्ति नहीं है। पीएम मोदी ने साफ लहजे में कहा, “गौभक्ति के नाम पर लोगों की हत्या स्वीकार नहीं की जाएगी। महात्मा गांधी आज होते तो इसके खिलाफ होते।”

पीएम मोदी के इस भाषण के अंश जब समाचार एजेंसी एएनआई ने ट्वीट किया तो लोगों ने उस पर अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। लोग पूछ रहे हैं कि प्रधानमंत्री महोदय आपने एक्शन क्या लिया यह तो बताइए? बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी दो दिन के गुजरात दौरे पर हैं। इस साल के आखिर में वहां विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

एक यूजर ने लिखा है कि पीएम महोदय निर्दोष लोग मारे जा रहे हैं। ऐसे में आपकी जिम्मेदारी क्या बनती है? एक अन्य यूजर ने लिखा है कि पीएम मोदी से बहुत ज्यादा उम्मीद नहीं की जा सकती है क्योंकि वो लोगों को गले लगाने, ठगने, टाइम पास करने और लोगों को भटकाने में व्यस्त हैं। एक ने साल 2002 के गोधरा दंगों का बिना जिक्र करते हुए प्रतीकात्मक तौर पर लिखा है, वह 2002 फीसदी सच हैं। एक यूजर ने लिखा है पिछले एक महीने से क्या कर रहे हैं पीएम मोदी जी? अभी तो आप फिल्मी डायलॉग झाड़ रहे हैं।

एक यूजर ने लिखा है, “#भक्तों बरनोल लगाओ अब तो गोडसे प्रेमी #फेकू भी गांधीजी की बात बोल रहा है लगता है सठिया गया है या फिर गांधीवादी हो गया है #गांधी_युक्त_आरएसएस” एक अन्य यूजर ने लिखा है कि मोदी जी की इस तरह की भाषा यह बताती है कि उदारवादी लोगों की जीत हुई है, जबकि हिन्दुत्व, गौरक्षक और मोदी समर्थकों की हार हुई है।  एक अन्य यूजर ने लिखा है, “अबे गांधी मर चुका, और उसके आउटडेटेड सिद्धान्त उसी दिन मर गए नौआखली में जब उसके सामने हिन्दू काटे गए।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग