December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

प्‍लैनेट अर्थ II के दूसरे एपिसोड में दिखा अपने बच्‍चे को बचाने गई मादा तेंदुए के ”रेप” का फुटेज

अपने बच्चों को बचाने के लिए मादा तेंदुआ एक नर तेंदुए से भिड़ जाती है। वह अपने बच्चे को बचाने की कोशिश करती है लेकिन इतने में दूसरे तेंदुए की इंट्री होती है।

बीबीसी की वाइल्‍ड लाइफ डॉक्‍युमेंट्री प्‍लेनेट अर्थ-2 का दूसरा एपिसोड (Photo Source: Youtube/Videograb)

बीबीसी की वाइल्‍ड लाइफ डॉक्‍युमेंट्री प्‍लैनेट अर्थ-2 का नया एपिसोड सोशल मीडिया पर लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। इससे पहले आया एपिसोड भी चर्चा में रहा था। इस हफ्ते के एपिसोड में दिखाया गया है कि कैसे फीमेल लेपर्ड ( मादा तेंदुआ) का अपने बच्चे को बचाने में रेप हो जाता है। जानवारों को कैमरे में कैद करना बहुत मुश्किल है और उनके जीवन के बारे में जानकारी लंबे समय से एक रहस्य रहा है। इस एपिसोड में मादा तेंदुआ और उसका बच्चा कैमरे में नजर आ रहा है, मादा ने दो साल तक अपने बच्चे को साथ रखा है और वह उस पर निर्भर है। इस दौरान मादा तेंदुए का सामना दो नर तेंदुए से होता है। अब परिवार को अपने जान का खतरा सताने लगता है। बीबीसी प्लेनेट-2 के स्क्रिप्ट राइटर सर एटनबरो ने बताया कि मादा तेंदुए उस बच्चे को मार देंगे क्योंकि वह उनका अपना बच्चा नहीं है।

अपने बच्चों को बचाने के लिए मादा तेंदुआ एक नर तेंदुए से भिड़ जाती है। वह अपने बच्चे को बचाने की कोशिश करती है लेकिन इतने में दूसरे तेंदुए की इंट्री होती है। सर एडनबरो बताते हैं कि अब लड़ाई अनिवार्य है। लेकिन जल्द ही मां और उसके बच्चा दोनों नर तेंदुओं के बीच फंस जाता है। मां के पास अपने बच्चे को बचाने के लिए खुद को नर तेंदुए को सौंपने के अलावा और कोई रास्ता नहीं बचता है। मादा तेंदुआ दोनों नर का बच्चे पर से ध्यान हटाने की कोशिश करती है, ताकि उसे वहां से निकलने का मौका मिल सके। उन्होंने बताया कि मादा घायल हो गई है और अब वह कभी शिकार नहीं कर सकेगी।

गौरतलब है कि इससे पहले बीबीसी की वाइल्ड लाइफ डॉक्युमेंट्री अर्थ-2 का पहल एपिसोड भी चर्चा में रहा था। यह वीडियो छिपकली (iguana) और सांप की लड़ाई पर फिल्माया गया था। समुद्र किनारे के इस सीन में इगुआना छिपकली पत्थरों पर चलती हुई दिखाई दे रही थी। इसी दौरान एक सांप उसे पकड़ने की कोशिश करता है। जान बचाकर छिपकली वहां से निकल जाती है।

छिपकली को शायद इसका अंदाजा भी नहीं होता कि वह जिस जगह पहुंची है वहां उसकी जान के लिए हर कदम पर खतरा है। वहां पर सांपों का पूरा झुंड है, जो छिपकली को देखते ही सतर्क हो जाता हैं और धीरे-धीरे उसके करीब जाने की कोशिश करने लगते हैं।अब इगुआना को भी इस बात की भनक लग गई होती है, वह नजर घुमाकर आसपास देखती है, उसी समय एक सांप उसे पूंछ से पकड़ने की कोशिश करता है। हालांकि वह बचकर भागने में कामयाब रहती है। इसके बाद कई सांप, जिनकी गिनती की जानी भी मुश्किल है, उसके पीछे पड़ जाते हैं। छिपकली जान बचाने के लिए इधर-उधर भागती है और आखिर में अपनी जान बचाने में कामयाब रहती है।

प्‍लैनेट अर्थ II के दूसरे एपिसोड का वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 15, 2016 4:08 pm

सबरंग