June 26, 2017

ताज़ा खबर
 

क्रि‍केट में जीत से उन्‍मादी हुआ यह पाक‍िस्‍तानी एंकर, कहा- नरेंद्र मोदी, हमारा जो पानी रोक रखा है, उसी में डूब मरो

रविवार 18 जून को ओवल के मैदान में खेले गए महामुकाबले में पाकिस्तान ने भारत को 180 रनों से हराकर चैम्पियंस ट्रॉफी अपने नाम कर ली।

पाकिस्तान न्यूज एंकर आमिर लियाकत।

चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में मिली जीत के बाद पाकिस्तानी न्यूज़ चैनल का एक एंकर इतना उन्मादी हो गया कि उसने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पानी में डूब मरने तक की बात कह दी। शो के एंकर आमिर लियाकत ने अपनी टीम का गुणगान करते हुए भारतीयों पर जमकर अपनी भड़ास निकाली और ये कह दिया कि नरेंद्र मोदी तुमने जो पाकिस्तान का पानी रोक रखा था जोओ उसी मे डूब कर मर जाओ।। इस पूरे शो के दौरान एंकर की भाषा बेहद भड़काऊ और अपमानजनक थी। आपको बता दें कि रविवार 18 जून को ओवल के मैदान में खेले गए महामुकाबले में पाकिस्तान ने भारत को 180 रनों से हराकर चैम्पियंस ट्रॉफी अपने नाम कर ली। भारत की तरफ से कोई भी खिलाड़ी सम्मानजनक प्रदर्शन नहीं कर पाया। गेंदबाजों से लेकर बल्लेबाजों तक ने अपने खराब प्रदर्शन की बदौलत ट्रॉफी को अपनी टीम से कोसो दूर धकेल दिया।

चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत की हार के बाद पाकिस्तानी न्यूज़ चैनल बोल के इस एंकर ने बारी-बारी से ढेरों भारतीयों के लिए जहग उगला। आमिर लियाकत ने इस जीत को कश्मीर से जोड़ दिया। इसके बाद आमिर ने अर्णब गोस्वामी, वीरेंद्र सहवाग और ऋषि कपूर पर भड़ास निकाली। आमिर ने कहा कि भारत को पाकिस्तान ने ऐसी मात दी है हिंदुस्तानी माएं अपने बच्चों को सिखाएंगी कि जब पाकिस्तानी टीम मैदान पर आए तो डर जाना।

ये पाकिस्तान की पहली चैम्पियन ट्रॉफी है। पाकिस्तान ने भारत को 180 रनों से मात देकर फाइनल में जीत दर्ज की और ट्रॉफी जीती। भारत की तरफ से अकेले हार्दिक पांड्या कुछ संघर्ष करते नजर आए। उनके अलावा कोई भी भारतीय खिलाड़ी अपने नाम के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पाया जिस कारण भारत को शर्मनाक हार का मुंह देखना पड़ा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on June 19, 2017 10:52 am

  1. S
    sk
    Jun 19, 2017 at 12:36 pm
    पाकिस्तान का सुधीर चौधरी और सरधना
    Reply
    सबरंग