December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

पाक मीडिया: पीएम मोदी से सीखने की जरूरत, लेकिन भारत सिर्फ अकेले तरक्की ना करें

एक मुल्क तरक्की कर जाएगा। हमसाए आपके गरीब होंगे। इतिहास ये कहता है दुनिया के जितने गरीब लोग थे वो गरीब लोग और गरीब होते जाते हैं वो सभ्याताओं और अमीरों के लिए खतरा बनते जाते हैं।

Author नई दिल्ली | November 10, 2016 09:50 am
पाकिस्तान मीडिया (pic source- youtube)

पांच सौ और हजार के नोट बंद करने के मोदी सरकार की तारीफ ना सिर्फ भारत में बल्कि सीमापार पाकिस्तान में भी हो रही है। पाकिस्तान के चैनल में इस विषय में चर्चा के दौरान मौजूद विशेषज्ञों ने मोदी की जमकर तारीफ की और उन्हें लगे हाथ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई जैसा बड़ा दिल दिखाने की मांग भी की। इस चर्चा की एक वीडियो भी सामने आई है। सबसे दिलचस्प बात ये है कि इस वीडियों में एक पाकिस्तान गेस्ट भारत सरकार की तारीफ करते हुए कहते हैं कि अकेले इंडिया तरक्की ना करे बल्कि पाकिस्तान भी करे, वरना पड़ोसी गरीब होगा तो अमीर के लिए खतरा बन सकता है।

500 और 1000 रुपए के नोट बंद- मोदी सरकार के फैसले पर क्‍या सोचती है जनता

पाकिस्तानी एंकर के जवाब में दो गेस्ट एक-एक करके अपनी बात रखते हैं जिसमें एक पाकिस्तानी गेस्ट बोलते हैं कि,  “पीएम मोदी पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेई जी जैसा बड़ा दिल दिखाए। अगर ये क्षेत्र तरक्की नहीं करेगा। हम भी दिक्कत में रहेंगे, अफगान भी दिक्कत में रहेगा और इंडिया में भी दिक्कत में रहेगा। उनको वाजपेई जैसा बड़ा दिल दिखाना चाहिए। अगर इंडिया के साथ भारत अपने विवाद खत्म करने के कोशिश कर सकता है तो पाकिस्तान के साथ भी कोशिश करनी चाहिए। ताकी पूरा क्षेत्र तरक्की करे, एक मुल्क तरक्की कर जाएगा। हमसाए आपके गरीब होंगे। इतिहास ये कहता है दुनिया के जितने गरीब लोग थे वो गरीब लोग और गरीब होते जाते हैं वो सभ्याताओं और अमीरों के लिए खतरा बनते जाते हैं। हमेशा से रेगिस्तान और पहाड़ से जो हमलावर आए हैं उन्होंने सभ्याताओं पर हमले किए हैं। तो बेहतर ये इंडिया अकेले तरक्की ना करे। मुद्दे तय करे और उनपे बात करे। इंडिया भी करे पाकिस्तान भी करे और पूरा क्षेत्र भी तरक्की करे।

गौरतलब है कि गौरतलब है कि भ्रष्टाचार, काले धन और जाली नोटों पर लगाम कसने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक बड़ा फैसला लिया है। मंगलवार को जनता को संबोधित करते हुए मोदी ने घोषणा की थी कि आधी रात के बाद से 1000 रुपए और 500 रुपए के नोट लीगल टेंडर नहीं रहेंगे। प्रधानमंत्री ने यह फैसला जाली नोटों और काले धन के बढ़ते चलन पर लगाम कसने के लिए किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 10, 2016 6:01 am

सबरंग