ताज़ा खबर
 

ईद के मौके पर भगवान कृष्ण की तस्वीर पोस्ट करना प्रशांत भूषण को पड़ा भारी , गुस्साए लोगों ने लगा दी क्लास

कुछ यूजर्स ने प्रशांत भूषण को लिखा कि कृष्ण युग में मुसलमान तो थे ही नहीं, ये किसी सनकी सेक्यूलर के मन की फालतू उपज है।
स्वराज अभियान के संस्थापक सदस्य और वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण।

स्वराज अभियान के संस्थापक और मशहूर वकील प्रशांत भूषण ने ईद के मौके पर गंगा-जमुनी तहजीब को लेकर कुछ ऐसा ट्वीट किया कि लोग उन्हें भला बुरा कहने लगे। प्रशांत भूषण ने अपने इस ट्वीट में हिंदू मुस्लिम एकता की मिसाल पेश करती भगवान कृष्ण की एक ऐसी तस्वीर शेयर की कि लोग उनपर ही पिल पड़े। लोगों ने प्रशांत भूषण से कहा कि जो ज्ञान यहां दे रहे हो ये उन मुस्लिम आतंकियों को जाकर दो जिनको तुम बचाने की कोशिश करते हो। इससे पहले भी प्रशांत भूषण ने जब भगवान कृषण पर ट्वीट करते हुए उन्हे सबसा बड़ा ईव-टूज़र बताया था तो खूब हंगामा हुआ था। दरअसल पूर्व आप नेता प्रशांत भूषण ने ट्वीट करते हुअ लिखा- इस तस्वीर में जो गंगा-जमुनी तहजीब की सांस्कृतिक और धार्मिक एकता दिखाई गआ है वो भारत की तातक है। आज ये खतरे में है।

 

प्रशांत भूषण ने जो दो तस्वीर ट्वीट की उसमें से एक पर चार पंक्तियां लिखी गई थी। वो पंक्तियां कुछ इस तरह से हैं-
आज का धन्यवाद
उस तहजीब को
जहां कृष्ण दिखाए ईद का चांद
और करे राम को इकबाल ‘हिंदुस्तान का इमाम’

जो दूसरी तस्वीर प्रशांत भूषण ने ट्वीट की है उसमें सर्वधर्म समभाव दिखाया गया है। इस तस्वीर में भगवान कृष्ण के साथ मुस्लिम वेशभूषा में एक शख्स खड़ा है जिसे भगवान कृष्ण आसमान की तरफ कुछ दिखा रहे हैं। लोग इन दोनों तस्वीरों को लेकर प्रशांत भूषण पर पिल पड़े हैं।

प्रशांत भूषण के इस ट्वीट पर यूजर्स लिख रहे हैं कि भांड़ में गया तेरा तहजीब। वहीं कुछ यूजर्स ने उन्हें लिखा कि कृष्ण युग में मुसलमान तो थे ही नहीं, ये किसी सनकी सेक्यूलर के मन की फालतू उपज है। कुछ यूजर ने तो प्रशांत बूषण के उस बयान पर भी चुटकी ले ली जिसमें उन्होंने कहा था कि भगवान कृष्ण इव टीज़र थे। ऐसे ही बहुत से कमेंट आए जिसमें यूजर्स ने प्रशांत भूषण पर निशाना साधा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग