ताज़ा खबर
 

अमेरिकन समाचार एजेंसी AP ने उरी हमलावरों को बताया विद्रोही, भड़के सहवाग और भाजपा-कांग्रेस नेता

कश्‍मीर के उरी में भारतीय सेना के बेस पर हमले को लेकर समाचार एजेंसी 'द एसोसिएटेड प्रेस(एपी)' को सोशल मीडिया पर आलोचना का शिकार होना पड़ा है।
उरी हमले में 17 जवान शहीद हुए जबकि 19 अन्‍य घायल हो गए। (Photo:PTI)

कश्‍मीर के उरी में भारतीय सेना के बेस पर हमले को लेकर समाचार एजेंसी ‘द एसोसिएटेड प्रेस(एपी)’ को सोशल मीडिया पर आलोचना का शिकार होना पड़ा है। उरी हमले में 17 जवान शहीद हुए जबकि 19 अन्‍य घायल हो गए। हालांकि चारों आतंकियों को मार गिराया गया। सेना के अनुसार आतंकी हमले के पीछे जैश ए मोहम्‍मद के आतंकियों का हाथ है। मारे गए आतंकियों से पाकिेस्‍तान मार्का का सामान बरामद हुआ है। एपी ने इस हमले की जानकारी देते हुए ट्वीट में आतंकियों के बजाय विद्रोहियों शब्‍द का इस्‍तेमाल किया था। उसके ट्वीट में लिखा था, ”सेना के एक आला अधिकारी ने बताया कि कश्‍मीर में भारतीय सेना के बेस पर हमले में 17 सैनिक और चार विद्रोही मारे गए।”

इस ट्वीट को लेकर भाजपा की आईटी सेल के प्रमुख अरविंद गुप्‍ता, कांग्रेस नेता प्रियंका चतुर्वेदी, क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग, बीसीसीआई से जुड़े अनिरुद्ध चौधरी ने एपी की खिंचाई की। इनके अलावा भी काफी लोगों ने आतंकियों को विद्रोही लिखे जाने पर आपत्ति जताई। अरविंद गुप्‍ता ने लिखा, ”क्‍या एपी, ये लोग आतंकी हैं विद्रोही नहीं।” कांग्रेस नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट किया, ”विद्रोही, एपी? दुनिया के आपके वाले हिस्‍से में क्‍या आतंकियों को यही पुकारा जाता है?” अनिरुद्ध चौधरी ने एपी के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा, ”विद्रोह?, रूको, इसके लिए शब्‍द होता है आतंकी।” सहवाग ने अपने ट्वीट में लिखा, ”उरी हमले के बारे में सुनकर दिल टूट गया है। वे विद्रोही नहीं वे आतंकी है। आतंकवाद को उचित तरीके से जवाब दिया जाना चाहिए।”

17 जवानों की शहादत से गुस्साए देश के लोगों ने मारे मोदी सरकार पर एक से बढ़ कर एक ताने

एक अन्‍य यूजर ने 9/11 हमले का जिक्र करते हुए लिखा, ”विद्रोही, क्‍या विद्रोहियों ने ही टि्वन टावर उड़ाए थे? वे आतंकी हैं। 17 सैनिक। पाकिस्‍तान से आतंकवाद दशकों से आ रहा है।” एक यूजर ने लिखा, ”वे विद्रोही नहीं, उनके लिए शब्‍द है आतंकी।”

हमें नुकसान पहुंचाने की कोशिश भी हुई तो भारत पर कर देंगे परमाणु हमला, पाक रक्षा मंत्री की धमकी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Abhay Krishna
    Sep 18, 2016 at 2:37 pm
    यह अपने पीएम मोदी की विदेश नीति की उपलब्धि!किसी विदेशी समाचार एजेंसी ने इससे पहले कभी आतंकियों को विधरोही नहीं कहा.
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग