December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

अमेरिका में इलेक्शन डे पर बना नया रिकॉर्ड, एक दिन में किए गए 35 मिलियन ट्वीट

यूएसए टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय समय के अनुसार सुबह 7.30 बजे तक अमेरिका में 35 मिलियन चुनाव संबंधित ट्विट्स किए जा चुके थे।

साल 2012 में इलेक्शन डे के दिन माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर 31 मिलियन ट्विट किए गए थे।

इलेक्शन डे के दिन अमेरिका में ट्विटर यूजर्स ने नया रिकॉर्ड बनाते हुए 35 मिलियन ट्विट्स किए। साल 2012 में इलेक्शन डे के दिन माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर 31 मिलियन ट्विट किए गए थे। यूएसए टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय समय के अनुसार सुबह 7.30 बजे तक अमेरिका में 35 मिलियन चुनाव संबंधित ट्विट्स किए जा चुके थे। इस नए रिकॉर्ड पर प्रतिक्रिया देते हुए जैकडॉ रिसर्च के मुख्य विश्लेषक जैन डॉसन ने बताया कि तुरंत हुई घटनाओं की अभिव्यक्ति के लिए ट्विटर सबसे लोकप्रिय प्लेटफॉर्म है जबकि फेसबुक उन चीजों को प्रमोट करता है जिनसे यूजर के ज्यादा जुड़ने की संभावना हो। डोनाल्ड ट्रंप के ट्विटर पर 13.1 मिलियन फॉलोअर हैं जबकि हिलेरी क्लिंटन के ट्विटर पर 10.4 मिलियन फॉलोअर हैं। इस समय ट्विटर पर 317 मिलियन एक्टिव यूजर्स हैं। इस साल ट्विटर यूजर के पास बजफीड न्यूज का भी विकल्प था। आपको बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप में राष्ट्रपति चुनावों में जीत दर्ज करते हुए हिलेरी क्लिंटन को हराकर अमेरिका के नए राष्‍ट्रपति बन गए हैं। राष्‍ट्रपति पद के चुनावों में उन्‍होंने डेमोक्रेटिक पार्टी हिलेरी क्लिंटन को मात दी। वे अमेरिका के 45वें राष्‍ट्रपति हैं। सभी न्‍यूज चैनलों और अखबारों ने हिलेरी की जीत की संभावना जताई थी। ओपिनियन पोल्‍स में भी हिलेरी की जीत दिखाई जा रही थी। नतीजों में उन्‍हें 288 इलेक्‍टॉरल वोट मिले। राष्‍ट्रपति बनने के लिए 270 वोट चाहिए होते हैं। इन नतीजों के साथ रिपब्लिकन पार्टी आठ साल बाद सत्‍ता में वापसी की है। इससे पहले साल 2001-09 के बीच जॉर्ज डब्‍ल्‍यू बुश रिपब्लिकन राष्‍ट्रपति थे।

वीडियो: अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति चुने गए डोनाल्ड ट्रंप; डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को हराया

उनके बाद बराक ओबामा दो बार राष्‍ट्रपति रहे। ओबामा डेमोक्रेटिक पार्टी से हैं। चुनाव नतीजों के दौरान ट्रंप ने डेमोक्रेटस के गढ़ ओहियो में भी जीत दर्ज की। इनके अलावा उनकी जीत में स्विंग स्‍टेट की भी बड़ी भूमिका रही। स्विंग स्‍टेट वे राज्‍य होते हैं जो चुनावी बयार के साथ बदलते रहते हैं। चुनावों के दौरान दोनों पार्टियां इन राज्‍यों को अपने पाले में लेने पर विशेष जोर देती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 9, 2016 4:07 pm

सबरंग