ताज़ा खबर
 

भीषण रेल हादसे के बावजूद आगरा में रैली कर सोशल मीडिया पर घिरे पीएम नरेंद्र मोदी

यूजर्स का कहना है कि एक तरफ नोटबंदी से देश परेशान हैं, ऊपर से रेल हादसा हो गया। ऐसे में पीएम मोदी को आगरा में रैली टाल देनी चाहिए थी।
पीएम ने रविवार को आगरा में रैली की थी।

उत्‍तर प्रदेश के कानपुर के नजदीक रविवार तड़के इंदौर पटना एक्‍सप्रेस पटरी से उतर गई। भीषण रेल हादसे में 142 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है और 200 से ज्‍यादा घायल बताए जा रहे हैं। हादसे पर पीएम नरेंद्र मोदी, सोनिया गांधी, राहुल गांधी समेत कई प्रमुख राजनैतिक हस्तियों ने दुख प्रकट किया था। हालांकि इसके कुछ घंटों बाद ही प्रधानमंत्री आवास योजना को लॉन्‍च करने के लिए नरेंद्र मोदी आगरा पहुंच गए। यहां उन्‍होंने योजना का शुभारंभ करने के बाद एक रैली को भी संबोधित किया। सोशल मीडिया पर पीएम के इस कदम की आलोचना हो रही है। कुछ यूजर्स का कहना है कि एक तरफ नोटबंदी से देश परेशान हैं, ऊपर से रेल हादसा हो गया। ऐसे में पीएम मोदी को आगरा में रैली टाल देनी चाहिए थी। यूजर्स ने #खूनीDemonetisation हैशटैग के साथ अपनी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की है। इस हैशटैग के साथ सोशल मीडिया पर नोटबंदी के चलते हो रही मौतों पर चिंता जताई गई है।

एक यूजर ने इस हैशटैग के साथ लिखा है, ”जनता बैंकों और ATM के आगे अब भी कतार में, साहेब उड़े घूम रहे हैं चुनावी प्रचार में..” वहीं एक अन्‍य यूजर ने पीएम मोदी के 50 दिन की मोहलत मांगने का मजाक उड़ाते हुए लिखा है, ”मित्रों, 50 दिन सह लो फिर आदत पड़ जाएगी।” एक यूजर लिखते हैं, ”इंसान लाइन मे लग कर मर रहा है ओर मोदी हवा मे उड़ रहा है।”

इससे पहले, सोमवार को ट्विटर पर यूजर्स ने #Modi_Bewafa_Hai ट्रेंड चलाकर नोटबंदी के फैसले की आलोचना की। मोदी ने आठ नवंबर की मध्यरात्रि से देश में 500 और 1,000 रुपए के पुराने नोटों को चलन से बाहर कर दिया था। इसके बाद से ही सोशल मीडिया पर यह मुद्दा टॉप ट्रेंड्स में शामिल रहा है।

सोशल मीडिया पर पीएम मोदी की खिंचाई: 

सबरंग