ताज़ा खबर
 

मुस्लिम पत्रकार ने शेयर की मां की फोटो तो आए भद्दे कमेंट्स, मिला करारा जवाब

दुनियाभर में आज सोशल मीडिया को सबसे ताकतवर हथियार माना जाता है। आज इस माध्यम के जरिए कोई भी आम आदमी अपनी आवाज हजारों-लाखों लोगों तक पहुंचा सकता है।
पत्रकार की मां के खिलाफ शख्स ने अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया है। (फोटो सोर्स ट्विटर)

दुनियाभर में आज सोशल मीडिया को सबसे ताकतवर हथियार माना जाता है। आज इस माध्यम के जरिए कोई भी आम आदमी अपनी आवाज हजारों-लाखों लोगों तक पहुंचा सकता है। हालांकि इस माध्यम के बहुत फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी हैं। क्योंकि कुछ लोग इस माध्यम का इस्तेमाल सांप्रदायिक सौहार्द को नुकसान पहुंचाने के लिए करते हैं तो कुछ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने के लिए भी करते हैं। इसी कड़ी में बीबीसी के पूर्व पत्रकार और वर्तमान में ‘जनता का रिपोर्टर’ के संस्थापक रिफत जावेद की मां के लिए एक यूजर्स ने अभद्र शब्दों का इस्तेमाल किया है। दरअसल 17 जुलाई (2017) को पत्रकार रिफत जावेद ने अपनी मां के साथ तस्वीर शेयर की और लिखा, ‘मुजफ्फरपुर में दुनिया की सबसे खूबसूरत लेडी- मेरी अम्मी।’ तस्वीर पर सौरभ तिवारी ने प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, ‘तुम्हारे अब्बा की कौन सी वाली खातून है??’ तिवारी इस ट्वीट के बाद भी कई ट्वीट किए। दूसरी तरफ पत्रकार रिफत जावेद ने 29 जुलाई (2017) को शख्स को ट्वीट को रिट्वीट करते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी और इसे हिंदुत्व की फैक्ट्री का उत्पाद बताते हुए लिखा, ‘ये हैं हिंदुत्व की फैक्ट्री के प्रोडक्ट। आप मेरी मां को बेइज्जज नहीं कर रहे हैं बल्कि खुद की मां को बेइज्जत कर रहे हो जिन्होंने तुम्हें पाला है। आपकी मां का सम्मान।’

वहीं कई यूजर ने सौरभ के ट्वीट की कड़ी आलोचना की है। संजीव मिश्रा लिखते हैं, ‘अपनी मां को भी ऐसे ही बोलते हो क्या? इज्जत देना सीख लो भाई! धर्म देखकर इज्जत देते हो किसी को!’ सौरभ ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘भारत माता की।’ जिसपर वैभव वर्मा लिखते हैं, ‘मां बहन की गालियां अपने ही देशवासियों को देके फर्जी देशभक्ति दिखाने वाला अब भारत माता की जय बोल रहा है। विचित्र विडंबना है।’ वहीं फिरोज अहमद ने इसका दोष आरएसएस को देते हुए लिखा, ‘ये जो जहर है वो आरएसएस फैला रहा है।’ खालिद अंसारी लिखते हैं, ‘दुनिया की हर मां को सलाम।’ एक यूजर लिखते हैं, ‘जिसके जैसे संस्कार।’