December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

अरविंद केजरीवाल के ‘घूसखोरी’ वाले आरोप के बाद नरेंद्र मोदी पर भड़के लोग, सोशल मीडिया पर बोले ‘मोदी भ्रष्ट जनता त्रस्त’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर घूसखोरी का आरोप लगाया था।

सोशल मीडिया पर #मोदी_भ्रष्ट_जनता_त्रस्त ट्रेंड कर रहा है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार (15 नवंबर) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर घूसखोरी का आरोप लगाया था। तब से ट्विटर पर #मोदी_भ्रष्ट_जनता_त्रस्त ट्रेंड कर रहा है। ट्रेंड पर लोग पीएम मोदी के साथ-साथ बीजेपी को भी निशाने पर ले रहे हैं। लोगों में बीजेपी और पीएम मोदी दोनों के लिए गुस्सा दिख रहा था। कोई लिख रहा था ‘हर गली मोहल्ला अब यही बोलेगा #मोदी_भ्रष्ट_जनता_त्रस्त ‘, दूसरे ने लिखा, ‘न खाउंगा न खाने दूँगा पर CM था जब …. कितना खाया’, वहीं तीसरे ने लिखा, ‘जिसने विश्वास किया, उसी को दगा दिया, वैसे अडवाणी जी का स्वास्थ्य कैसा है’ इसके अलावा लोगों ने कुछ वीडियो भी शेयर किए जिसमें नोटबंदी से परेशान लोग सरकार को कोस रहे थे। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स को भी दिखाया गया। लोगों ने उन सभी पर बिकाऊ होने का और बीजेपी सरकार के खिलाफ ना लिखने का आरोप भी लगाया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा में आपात सत्र के दौरान बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला बोला था और उनपर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। केजरीवाल ने कहा था कि आदित्य बिरला ग्रुप के एक्‍जीक्‍यूटिव प्र‍ेसिडेंट के पास से बराबद 2012 के मैसेज से पता चला कि उसने गुजरात सीएम को पैसे दिए थे। केजरीवाल ने कहा, ‘आदित्य बिरला ग्रुप पर अक्टूबर 2013 में छापा पड़ा था। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने सभी कागजात ले लिए थे। ग्रुप के एक्‍जीक्‍यूटिव प्र‍ेसिडेंट शुभेंन्दु अमिताभ के लेपटॉप, ब्लैकबेरी को भी लिया गया था। उसमें एक एंट्री में लिखा था गुजरात सीएम 25 करोड़। गुजरात के सीएम के आगे 25 करोड़ और ब्रेकिट में 12 दिए और बाकी ? लिखा था। गुजरात सीएम कौन थे उस वक्त….नरेंद्र मोदी जी 2012 में। ‘

केजरीवाल ने विधान सभा में आगे कहा था कि पहली बार कुर्सी पर बैठे किसी प्रधानमंत्री का नाम काले धन के किसी घोटाले में आया है। केजरीवाल ने यह भी कहा था कि ‘पनामा घोटाले में मोदी जी के कितने दोस्‍तों के नाम थे, मगर कोई एक्‍शन नहीं लिया गया। 648 लोगों के स्विस बैंक अकाउंट नंबर तक लिखे हुए थे, मगर कार्रवाई इसलिए नहीं हुई क्‍योंकि इस लिस्‍ट के अंदर प्रधानमंत्री मोदी जी के दोस्‍त हैं।’ दस्‍तावेज सामने रखते हुए सीएम ने कहा था, ‘आज मैं सबूत लेकर आया हूं। आयकर विभाग ने 15 अक्‍टूबर 2013 को आदित्‍य बिरला ग्रुप पर छापेमारी हुई। वापस आने के बाद इनकम टैक्‍स की अप्रेजल रिपोर्ट में बिरला ग्रुप के अकाउंटेंट ने कहा कि मैं हवाला का पैसा लेकर आता हूं। मेरे बॉस का नाम शुभेन्‍दु अमिताभ हैं। वे बिरला ग्रुप के एक्‍जीक्‍यूटिव प्र‍ेसिडेंट थे।’

#मोदी_भ्रष्ट_जनता_त्रस्त पर ऐसे-ऐसे ट्वीट आ रहे हैं-

वीडियो: जनसत्ता एक्सकलूसिव: नोटबंदी की ज़मीनी हकीकत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 16, 2016 2:59 pm

सबरंग