ताज़ा खबर
 

ममता बनर्जी के खिलाफ ट्विटर पर फूटा गुस्सा- इंडियन आर्मी देखकर आप डरती हैं, पर बांग्लादेशियों के साथ सुरक्षित महसूस करती हैं

पश्चिम बंगाल में राज्य सचिवालय नबन्ना भवन के पास स्थित टोल प्लाजा पर सेना के जवान तैनात होने का मुद्दा थमता नजर नहीं आ रहा।
ट्विटर पर #MamataBanerjee ट्रेंड कर रहा था।

पश्चिम बंगाल में राज्य सचिवालय नबन्ना भवन के पास स्थित टोल प्लाजा पर सेना के जवान तैनात होने का मुद्दा थमता नजर नहीं आ रहा। गुरुवार (1 दिसंबर) की रात से ही यह मुद्दा सोशल मीडिया पर छाया हुआ था। ट्विटर पर #MamataBanerjee ट्रेंड में था जिसपर लोग नबन्ना के मुद्दे पर अपनी राय रख रहे थे। इसमें से ज्यादातर लोग ममता के खिलाफ बोलने वाले थे। एक ने लिखा, ‘सचिवालय के पास इंडियन आर्मी को देखकर आपको इतना डर क्यों लग रहा है ? आप कुछ बांग्लादेशियों के साथ ही सुरक्षित महसूस करती हैं।’ दूसरे ने लिखा, ‘ममता बनर्जी केजरीवाल का उग्र और भयानक रूप हैं। वह अलगाववादी नेता बनने की कगार पर हैं।’ तीसरे ने लिखा, ‘बंग्लादेशी बंगाल में आसानी से आ सकते हैं लेकिन इंडियन आर्मी को वहां जाने के लिए ममता बनर्जी से वीजा चाहिए होगा।’ अगले ट्वीट में कहा गया, ‘ममता ने अपने आपको ऑफिस में बंद कर लिया है और आर्मी के हटने तक निकलने को तैयार नहीं हैं। इस महिला को क्या हो गया है। यह तो एक रुटीन एक्सरसाइज है।’ दूसरे ट्वीट में कहा गया, ‘मारने की कोशिश, सेना का तख्तापलट यह सब किसी खाली दिमाग में ही आ सकता है। ममता बनर्जी ने दिखा दिया कि वह भी अरविंद केजरीवाल की तरह ऑफिस में खाली रहती हैं।’

गुरुवार शाम को पश्चिम बंगाल के राज्य सचिवालय नबन्ना भवन के पास स्थित टोल प्लाजा पर सेना के जवान तैनात कर दिए गए थे। उसपर ममता बनर्जी ने सवाल खड़े किए थे। ममता ने कहा था कि सरकार उन्हें घेरने के लिए वह सब कर रही है। एक ट्वीट में उन्होंने यह भी पूछा था कि क्या सेना तख्तापलट की कोशिश कर रही है? ममता ने ट्वीट करके यह भी बताया था कि जबतक सेना नहीं हटाई जाएगी तबतक वह सचिवालय के बाहर नहीं जाएंगी। हालांकि, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर ने सफाई देते हुए कहा था कि ये एक रूटीन अभ्यास था और राज्य प्रशासन को इसके बारे में पहले से सूचित किया गया था।

ममता बनर्जी के लिए लोगों ने कैसे-कैसे ट्वीट किए देखिए –

 

इस वक्त की बाकी ताजा खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

वीडियो: बंगाल में सेना की मौजूदगी पर ममता बनर्जी और सरकार में ठनी, देखिये कैसे बदला घटनाक्रम

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. D
    Deepak Bhatt
    Dec 2, 2016 at 11:41 am
    ममता को बाग्लादेशियों से लगाव इसलिए है उनकी आई डी बनाकर बोट बैक बना लेते है सेना के साथ ये हो नही सकता क्योंकि सेना देश के हितैसी व देश के दुश्मनों को ठीक से दानती है ओर ठिकाने भी लगा देती है तभी सेना से ज्यादा बाग्लादेशियों पर विश्वास करती है, इसी बोट बैक की राजनीति ने देश का बेड़ा गर्क कर दिया, ममत व केजरी दोनों एक ही है भाई-बहन, तुम भी ज्यादा नही चलने वाले.
    Reply
  2. D
    Dev Verma
    Dec 2, 2016 at 3:14 pm
    केजरीवाल और ममता को एक ही रसी से भांड कर दरया में डाल देना चाहे. हुड से बाहर जह रही.
    Reply
  3. R
    Ram Babu
    Dec 3, 2016 at 12:34 pm
    yeh i aurat dino din aur badsurat hoti ja rahi he , aur jaban to kalmuhin se bhi badtar ho gaai he !
    Reply
  4. R
    ROOPLAL
    Dec 3, 2016 at 1:25 am
    ममता सरकार भंग कर president रूल लगाया जाये..लातो के बातो से नहीं mante
    Reply
  5. V
    Vijay
    Dec 3, 2016 at 1:54 am
    सब इसके खिलाफ हैं. लोगों को तो इसके हिन्दू होने पर ही शक हो रहा है . अब इस बंदरिया को अक्ल आएगी या नहीं .
    Reply
  6. A
    An average
    Dec 3, 2016 at 7:20 am
    फिर मिले बचपन में कुम्भ मेले में बिछुड़े हुए सत्यानाशी भाई जरीवाल ममता।
    Reply
  7. Load More Comments
सबरंग