December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

डीएम ने दिया ड्राइवर को रिटायरमेंट गिफ्ट, लाल बत्ती वाली गाड़ी सजवाकर खुद पहुंचाया दफ्तर

ड्राइवर को रिटायरमेंट के दिन डीएम ने यूनिक गिफ्ट दिया।

अपने ड्राइवर को कार में बैठाकर ले जाते कलेक्टर। (Photo Source: Screenshot/NDTV)

पहली नजर में यह कार देखकर लग रहा है कि इसे दूल्हे के लिए सजाया गया है। लेकिन यहां माजरा कुछ अलग है। जब आप इस फोटो को और गौर से देखेंगे तो इसकी सच्चाई जानने को और उत्सुक हो जाएंगे। तस्वीर में देख सकते हैं सफेद ड्रेस में ड्राइवर पीछे वाली सीट पर बैठा है और कार को एक सूट-बूट पहने कलेक्टर चला रहे हैं। इतना ही नहीं, बल्कि ड्राइवर के लिए कार का गेट भी खोला जाता है। एनडीटीवी की रिपोर्ट इसके पीछे कहानी कुछ यूं है कि महाराष्ट्र के अकोला के डीएम जी श्रीकांत ने अपने ड्राइवर दिगंबर ठाक को रिटायरमेंट का यूनिक गिफ्ट देने का फैसला किया था। कलेक्टर ने पहले अपनी लाल बत्ती वाली कार को सजवाया। उसके बाद उस कार में पीछे अपने ड्राइवर ठाक को बैठाया और खुद कार ड्राइव करके उन्हें दफ्तर पहुंचाया। इसके बाद दफ्तर में पार्टी आयोजित की गई। 58 साल के दिगंबर ने जिले के 18 कलेक्टरों के लिए कारें चलाई हैं।

वीडियो देखें- प्रत्युषा बैनर्जी के वकील का आरोप- ‘राहुल ने प्रत्युषा को वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर किया था’

ऐसा ही एक और मामला झारखंड के रामगढ़ जिले के रजरप्पा टाउनशिप में देखने को मिला है। यहां पिछले 30 सालों से झाड़ू लगानेवाली सुमित्रा देवी की आज बड़ी चर्चा हो रही है। इसकी वजह है उनका रिटायरमेंट और उस दिन विदाई समारोह में उनके बेटों का शामिल होना। दरअसल, जैसे ही रिटायरमेंट फंक्शन शुरू हुआ, वहां तीन बड़े अफसर पहुंचे। एक अफसर नीली बत्ती लगी गाड़ी में पहुंचे तो दो अफसर अलग-अलग बड़ी-बड़ी गाड़ियों में पहुंचे। उनमें एक थे बिहार के सिवान जिले के कलक्टर महेन्द्र कुमार, दूसरे रेलवे के चीफ इंजीनियर वीरेन्द्र कुमार और तीसरे थे मेडिकल अफसर धीरेन्द्र कुमार। ये तीनों सुमित्रा देवी के बेटे हैं जिन्हें उन्होंने बड़ी मेहनत से न केवल पाला-पोषा बल्कि उन्हें बड़ा अधिकारी बनाया। जब तीनों बेटे वहां पहुंचे तो सुमित्रा देवी की आंखें भर आईं। उन्होंने अपने तीनों बेटों का वहां मौजूद अपने अधिकारियों से परिचय कराया तो सबके सब दंग रह गए। सुमित्रा देवी के दूसरे सहयोगी सफाईकर्मियों को उन पर गर्व महसूस हो रहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 4, 2016 4:31 pm

सबरंग