December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

पुण्य प्रसून वाजपेयी के सवालों से खफा हुई मधु किश्वर, लिखा- मोदी पर किताब लिख कर गुनाह कर दिया क्या

मोदी के समर्थन में लिखने पर मुझे सीएसडीएस द्वार सजा दी गई। उन्हें लगता है शिक्षा के क्षेत्र में लेफ्ट एकाधिकार बना रहना चाहिए।

Author November 14, 2016 00:50 am
मधुकिश्वर और पुण्य प्रसून वाजपेयी ।

हिंदी न्यूज चैनल आजतक के विशेष कार्यक्रम साहित्य आजतक में साहित्य और विचारधारा विषय पर चर्चा करने के लिए मशहूर लेखक, पक्षकार और शिक्षाविद् मधुकिश्वर पहुंची। मधु से इस विषय सवाल पूछने के लिए आजतक की तरफ से पुण्य प्रसून वाजपेयी थे लेकिन शायद मधु को पुण्य के सवाल पसंद नहीं आए। रविवार को मधु किश्वर ट्वीटर पर इस शो को लेकर एक के बाद एक ट्वीट किए। मोदी के समर्थन में किताब लिखने पर पुण्य के सवालों से मधु नाराज थी। मधु ने ट्विटर पर लिखा कि साहित्य और विचारधारा पैनल पर पुण्य प्रसून वाजपेयी ने सिर्फ मुझ से सवाल किया कि मैंने क्यों मोदी पर किताब लिखी।

क्या मैंने कोई गुनाह किया है। मधु यहीं नहीं रुकी इसके बाद मधु ने पुण्य प्रसून वाजपेयी को निशाने पर रखकर और भी ट्वीट किए। उन्होंने लिखा समझ नहीं आता मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद पुण्य प्रसून वाजपेयी उनके इतने खुल कर विरोध क्यों करन लगे। बहादुर बनो और सीधे मोदी से कहो, मेरे ऊपर इतना जहर उगला गया। इसके उन्होंने लिखा काश वाजपेयी पुरुषोत्तम अग्रवाल से ये पूछने का साहस कर पाते कि उन्होंने क्यों धर्मनिरपेक्षता के मास्क लगाकर उन्होंने अपनी सारी स्कालर्शिप यूपीए सरकार की सर्विस में लगा दी।

इसके बाद उन्होंने एक दूसरे ट्वीट में लिखा कि सिर्फ एक पत्रकार है जिसके मोदी के पीएम बनने से नौकरी चली गई वो कंचन गुप्ता है और सिर्फ एक शिक्षाविद् है जिसे पक्षपात का सामना करना पड़ रहा है वो मैं हूं। इसके बाद उन्होंने लिखा मोदी के समर्थन में लिखने पर मुझे सीएसडीएस द्वार सजा दी गई।  उन्हें लगता है शिक्षा के क्षेत्र में लेफ्ट एकाधिकार बना रहना चाहिए। 2014 में चुनाव के ठीक पहले मधु किश्वर ने गुजरात दंगों पर एक किताब लिखी थी जिसमें उन्होंने मोदी की जमकर तारीफ की थी। इसी किताब को लेकर पूछे गए सवालों से मधु नाराज थी। आजतक के दो दिवसीए कार्यक्रम में साहित्य आजतक  में कई बड़े नामों ने शिरकत की। जावेद आख्तर, राहत इंदौरी, मुनव्वर राना, पीयूष मिश्रा, समेत कई पत्रकार, कवियों ने शिरकत की।

जापान में बोले पीएम मोदी- “भारत को दुनिया की सबसे बड़ी ओपन इकॉनमी बनाने का लक्ष्य”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 14, 2016 12:47 am

सबरंग