December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

जानिए अरनब गोस्‍वामी ने क्‍यों छोड़ा टाइम्‍स ग्रुप, क्‍या सागरिका घोष लेंगी उनकी जगह?

अरनब के शो के चलते हाल के दिनों में टाइम्‍स नाऊ की टीआरपी में जोरदार बढ़ोत्‍तरी देखने को मिली है। टाइम्‍स नाऊ 2005 में शुरू हुआ था और इसके बाद से काफी प्रसिद्धि हासिल की है।

टाइम्‍स नाऊ के एडिटर इन चीफ अरनब गोस्‍वामी ने मंगलवार को टाइम्‍स ग्रुप से इस्‍तीफा देने का एलान किया।

टाइम्‍स नाऊ के एडिटर इन चीफ अरनब गोस्‍वामी ने मंगलवार को टाइम्‍स ग्रुप से इस्‍तीफा देने का एलान किया। उनके इस्‍तीफे की खबर ने सोशल मीडिया और मीडिया सर्कल में तूफान ला दिया। उनके इस फैसले को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। बताया जाता है कि वे अपना खुद का चैनल लॉन्‍च करने वाले हैं। लेकिन एक सवाल का जवाब अभी तक साफ नहीं हुआ कि उन्‍होंने इस्‍तीफा क्‍यों दिया। खबरों के अनुसार मंगलवार को बैठक के दौरान उन्‍होंने कहा कि वे टाइम्‍स नाऊ में काम करते हुए बोर हो चुके हैं। अब वे कुछ नया करना चाहते हैं। टाइम्‍स ग्रुप की एडिटोरियल बैठक के दौरान अरनब ने कहा, ”स्‍वतंत्र मीडिया आने वाले समय में कामयाब होने वाला है। खेल अब शुरू हुआ है।” बताया जाता है कि मीटिंग के दौरान अरनब ने एक घंटे के अपने भाषण में कम से कम 15 बार ‘खेल अब शुरू हुआ है’ कहा।

अपुष्‍ट खबरों के अनुसार वे सांसद और व्‍यापारी राजीव चंद्रशेखर के साथ मीडिया वेंचर शुरू करने जा रहे हैं। inuth.com वेबसाइट के अनुसार अरनब जो भी नया प्रोजेक्ट लेंगे उसमें हिस्‍सेदार बनेंगे। टाइम्‍स ग्रुप के साथ ही ऐसी कोई व्‍यवस्‍था नहीं थी। inuth ने सूत्रों के हवाले से बताया, ”आपको यह समझना होगा कि अरनब गोस्‍वामी सनक में कोई फैसला नहीं लेते। साफ है कि वे लंबे समय से ऐसी प्‍लानिंग कर रहे थे। टाइम्‍स नाऊ के साथ काम करने का सबसे बड़ा नुकसान यह था कि आप हमेशा एक कर्मचारी रहते। यहां तक कि राजदीप सरदेसाई को भी टीवी 18 में हिस्‍सा है।” इसी बीच यह खबर भी आ रही है कि अरनब गोस्‍वामी के जाने के बाद सागरिका घोष को एडिटर इन चीफ बनाया जा सकता है। हालांकि इसकी संभावना कम है क्‍योंकि उनकी पत्रकारिता का तरीका अरनब से अलग है।

अरनब के शो के चलते हाल के दिनों में टाइम्‍स नाऊ की टीआरपी में जोरदार बढ़ोत्‍तरी देखने को मिली है। टाइम्‍स नाऊ 2005 में शुरू हुआ था और इसके बाद से काफी प्रसिद्धि हासिल की है। हालांकिे उनका शो न्‍यूजआवर पहली बार 2007 में नंबर वन प्राइम टाइम न्‍यूज शो बन पाया था। तब से लगातार यह शो चर्चित और विवादित रहा है। शो को अरनब पूरी तरह अपने हिसाब से चलाते रहे हैं और मेहमानों को अपनी मर्जी से ही बोलने का मौका देते रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 1, 2016 9:30 pm

सबरंग