December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

मार्कण्डेय काटजू ने अर्नब गोस्वामी को कहा जोकर, तो किसी ने कभी प्रियंका की सुरक्षा पर सवाल उठाने के लिए घेरा

एक ट्वीट में मार्कण्डेय काटजू ने पूछा है, "अर्नब को उनके नियोक्ता से मोटी तनख्वाह मिलती होगी, तो वो अपनी सुरक्षा का खर्च खुद क्यों नहीं उठाते?"

अरनब गोस्वामी टीवी चैनल टाइम्स नाउ के एडिटर-इन-चीफ हैं।

टीवी एंकर अर्नब गोस्वामी को वाई श्रेणी की सुरक्षा दिए जाने की खबर आते ही सोशल मीडिया में उस पर टीका टिप्पणी शुरू हो गई। कई आम और खास लोग अर्नब को सुरक्षा दिए जाने पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार खुफिया एजेंसियों द्वार मिली सूचना के बाद अर्नब को सुरक्षा प्रदान करने का फैसला किया गया। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज मार्कण्डेय काटजू ने तो सरकारी खर्चे पर सुरक्षा देने पर सवाल खड़ा करते हुए अर्नब को “जोकर” तक कह दिया। काटजू ने ट्वीट करके कहा, “इस जोकर अर्नब गोस्वामी से सिर के अंदर घमंड के अलावा कुछ नहीं है, अब सरकार 20 गार्ड दिन-रात उसकी सुरक्षा के लिए देगी। उसकी सुरक्षा के लिए।” एक अन्य ट्वीट में काटजू ने पूछा है, “अर्नब को उनके नियोक्ता से मोटी तनख्वाह मिलती होगी, तो वो अपनी सुरक्षा का खर्च खुद क्यों नहीं उठाते?”

@ArunSFan हैंडल से ट्वीट करने वाले एक यूज़र ने अर्नब को दी जा रही सुरक्षा पर सवाल खड़ा करते ट्वीट किया है, “ये वही अर्नब गोस्वामी हैं जिन्होंने प्रियंका गांधी की सुरक्षा पर सवाल उठाया था (जिन्होंने अपने पिता और नानी को आतंकियों के हाथों खो दिया)” प्रेरणा नामक यूज़र ने लिखा है, “अर्नब को कर दाताओं के पैसे से सुरक्षा क्यों?” वहीं एक पैरोडी अकाउंट से ट्वीट करके मौजूदा सरकार द्वारा विभिन्न लोगों को सुरक्षा दिए जाने और सेस लगाने पर कटाक्ष किया गया [email protected]_ हैंडल से किए ट्वीट में कहा गया है, “रामदेव, अर्नब और सुधीर चौधरी जैसों की सुरक्षा का खर्च उठाने के लिए सरकार “भक्त सुरक्षा सेस” लगा सकती है।”  बता दें कि केंद्र सरकार अपने ढाई साल के कार्यकाल में अब तक कई सेस लगा चुकी है।

वीडियो: भारत अब कर सकेगा समंदर से भी परमाणु हमला-

लेकिन कुछ लोग अर्नब गोस्वामी को सुरक्षा दिए जाने का समर्थन भी कर रहे हैं और इस पर सवाल उठाने वालों की आलोचना कर रहे हैं। पत्रकार गायत्री जयरमन ने ट्वीट किया है, “मुझे लगता है कि अर्नब की सुरक्षा पर सवाल उठाना काफी बेवकूफाना और अनुदारता है। किसी द्वारा व्यक्त विचारों के लिए उसकी जान खतरे में नहीं पड़नी चाहिए।” वहीं पत्रकार मानक गुप्ता ने अर्नब की सुरक्षा का समर्थन करते हुए ट्वीट किया है, “जब इतने सारे नेता सत्ता की ताकत दिखाने के लिए सुरक्षा लेकर घूम सकते हैं तो अर्नब क्यों नहीं? वो इसके हकदार हैं।”

Read Also:जाकिर नाइक का समर्थन कर चुके शमशेर पठान को फीमेल पेनेलिस्ट का अपमान करने पर अर्नब गोस्वामी ने शो से निकाला!

हालांकि आधिकारिक तौर पर ये स्पष्ट नहीं है कि अर्नब की सुरक्षा की जिम्मेदारी कौन उठाएगा। खबरों के अनुसार अर्नब की सुरक्षा में 24 घंटे दो पर्सनल सिक्यूरिटी ऑफिसर सहित 20 सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे। वहीं उनके घर और दफ्तर में चार-चार पुलिस गार्ड तैनात किए जाएंगे। आपको बता दें कि अर्नब पहले पत्रकार नहीं होंगे, जिन्हें केंद्र की ओर से सुरक्षा दी जाएगी। इससे पहले जी न्यूज के संपादक सुधीर चौधरी को एक्स कैटेगरी के तहत, समाचार प्लस के उमेश कुमार को वाई कैटेगरी के तहत और पंजाब केसरी के अश्विनी चोपड़ा को जेड प्लस सुरक्षा मिली हुई है। चोपड़ा लोकसभा सांसद हैं और तीन दशक पहले उनके पिता और दादा की आतंकियों ने हत्या कर दी थी। इसके बाद उन्हें यह सुरक्षा दी गई थी।

Read Also: जाकिर नाईक ने अर्नब गोस्‍वामी पर ठोका 500 करोड़ का केस तो Twitter Users बोले- उल्‍टा चोर कोतवाल को डांटे

Read Also: अर्नब गोस्वामी को शट अप कहने वाली एक्ट्रेस ने लेख लिख कर बताई इसकी वजह…

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 18, 2016 2:31 pm

सबरंग