ताज़ा खबर
 

महिला पत्रकार ने बयां किया कैब में सफर करने का खौफनाक अनुभव, सुनसान जगह गाड़ी रोक दोस्‍तों को फोन करने लगा ड्राइवर

पत्रकार ने पूरी घटना की शिकायत उबर की मोबाइल अप्लिकेशन के जरिए की, मगर उनका जवाब 8 घंटे बाद आया।
तस्वीर का इस्तेमाजल प्रतीकात्मक तौर पर (source -Reuters)

दिल्‍ली में काम करने वाली एक महिला पत्रकार ने ट्विटर पर कैब सेवा प्रदाता कंपनी उबर के साथ हुए एक ‘खौफनाक अनुभव’ साझा किया है। पत्रकार का कहना है कि कैब के ड्राइवर ने ग्रेटर नोएडा एक्‍सप्रेस-वे पर एक सुनसान इलाके में अचानक गाड़ी रोक दी और अपने दोस्‍तों को फोन करने लगा। पत्रकार ने घटना की शिकायत उबर से की तो कंपनी ने आठ घंटे बाद जवाब देते हुए इसे ‘दुर्भाग्‍यपूर्ण’ घटना बताया। इंडिया टुडे समूह के लिए काम करने वाले अनन्‍या भट्टाचार्य ने मंगलवार (11 जुलाई) रात को एक के बाद एक ट्वीट कर पूरी कहानी बताई। अनन्‍या के अनुसार, मंगलवार रात करीब 10.55 बजे कार में सवार होने के बाद उसे ‘अल्‍कोहल और पान की गंध’ महसूस हुई। भट्टाचार्य के अनुसार, पांच मिनट बाद ही ड्राइवर ने ग्रेटर नोएडा के एक सुनसान हिस्‍से पर कार रोक दी। पूछने पर ड्राइवर ने कहा कि गाड़ी में पेट्रोल खत्‍म हो गया है। अनन्‍या ने लिखा है कि ‘जहां उसने कार रोकी, वहां अंधेरा था और वह इलाका अपराध के लिए बदनाम है।’ पत्रकार के अनुसार, ड्राइवर ने अपने मोबाइल से किसी को फोन किया और पेट्रोल पंप से तेल लाने को कहा। पत्रकार के अनुसार, ड्राइवर ने फोन पर कहा कि कार में एक ‘औरत’ है। अनन्‍या ने इस मौके पर अपनी दोस्‍त को फोन किया और उस जगह आने को कहा।

अनन्‍या के अनुसार, ‘ड्राइवर ने मुझे बात करते सुना और पूछा कि क्‍या कोई मुझे लेने आ रहा है। मैंने हां कहा। उसने दरवाजे बंद किए और लाइट जला दी। मैंने उसकी तरफ देखा और लाइट बंद करने को कहा। इस दौरान उसने 5 और कॉल की, शायद दो अलग-अलग लोगों को। इस अनुभव से मैं स्‍तब्‍ध हूं। यह सोच कर ही कंपकंपी छूट जाती है कि अगर उबर ड्राइवर के दोस्‍तों से पहले मेरी दोस्‍त वहां नहीं पहुंचती तो पता नहीं क्‍या होता।” भट्टाचार्य के अनुसार, उन्‍होंने पूरी घटना की शिकायत उबर की मोबाइल अप्लिकेशन के जरिए की, मगर उनका जवाब 8 घंटे बाद आया।


अनन्‍या की शिकायत पर उबर द्वारा भेजा गया जवाब:

हालांकि उत्‍तर प्रदेश पुलिस ने अनन्‍या के ट्वीट का संज्ञान लेते हुए एक्‍सप्रेसवे पर पैट्रोलिंग की बात की। यूपी पुलिस के पीआरओ विभाग में एएसपी राहुल श्रीवास्‍तव ने लिखा, ”नोएडा पुलिस को उस इलाके में बेहतर पैट्रोलिंग के निर्देश दिए जा रहे हैं। आपातकालीन स्थितियों में हमेशा 100 नंबर डायल करें।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग