ताज़ा खबर
 

विराट कोहली और रवि शास्त्री पर तंज कसते हुए उद्योगपति ने बताई क्रिकेट कोच बनने की “योग्यता”, यूजर्स ने बढ़ाई लिस्ट

रवि शास्त्री के अलावा वीरेंद्र सहवाग, टॉम मूडी, लालचंद राजपूत, डोडा गणेश और रिचर्ड पायबस भारतीय क्रिकेट टीम के कोच पद की दौड़ में हैं।
भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली से मतभेद के बाद अनिल कुंबले ने कोच के पद से इस्तीफा दे दिया। (फाइल फोटो)

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और पूर्व कोच अनिल कुंबले के बीच मतभेद से उठा विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है। उद्योगपति हर्ष गोयनका ने पूरे प्रकरण पर तंज कसते हए भारतीय टीम का कोच बनने की “योग्यता” बताई है। हर्ष गोयनका ने मंगलवार ( 27 जून) को ट्वीट किया, “भारतीय क्रिकेट टीम के कोच पद के लिए आवेदन भेजें। योग्यता: यात्रा कार्यक्रम तैयार करना, होटल के कमरे बुक कराना, बीसीसीआई और भारतीय क्रिकेट कप्तान के प्रति आज्ञाकारी होना।” अनिल कुंबले ने इस्तीफा देते हुए कहा था कि कोहली को उनकी “स्टाइल” से समस्या है इसलिए वो पद छोड़ रहे हैं।

भारतीय टीम के कोच का चयन क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी को करना है। इस कमेटी में सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण सदस्य हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने कोच पद के लिए आवेदन की तारीख नौ जुलाई तक बढ़ा दी है। वीरेंद्र सहवाग, टॉम मूडी, लालचंद राजपूत, डोडा गणेश और रिचर्ड पायबस ने कोच पद के लिए आवेदन किया है। आवेदन की तारीख बढ़ाए जाने के बाद पूर्व क्रिकेटर रवि शास्त्री भी संभावित उम्मीदवारों में शामिल हो गए।

मंगलवार को रवि शास्त्री ने मीडिया से कहा कि वो भी भारतीय टीम के कोच पद के लिए आवेदन भेज रहे हैं। कुंबले के संग विवाद के दौरान मीडिया में खबरें आई थीं कि कोहली शास्त्री को कोच बनवाना चाहते हैं। साल 2016 में भी शास्त्री भारतीय टीम के कोच पद की दौड़ में थे लेकिन तब वो अनिल कुंबले से पिछड़ गए थे। शास्त्री 2014 से 2016 तक भारतीय टीम के डायरेक्टर रहे हैं।

भारतीय टीम के कोच पद के लिए छह पूर्व खिलाड़ियों ने आवेदन भेजा है। पूर्व कोच होने के कारण कुंबले को आवेदन नहीं करना था लेकिन कोहली से विवाद के बाद इस्तीफा देकर वो खुद ही दौड़ से बाहर हो गए हैं। इस्तीफा देते समय कुंबले ने साफ किया था कि क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी चाहती थी कि वो अगले दो साल तक कोच पद पर बने रहें।

गोयनका के ट्वीट पर यूजर्स ने भी खूब चुटकी ली। यूजर्स ने कोहली और शास्त्री को निशाने बनाते हुए कोच बनने की “अन्य योग्यताएं” भी बताईं। अपर्णा नामक यूजर ने कहा, “आह हर्ष, आप सबसे जरूरी भूमिका भूल ही गए- खिलाड़ियों का कैलेंडर और विज्ञापन की तारीखें मेंंटेन रखना।” दिनेश जोशी नामक यूजर ने लिखा, “संक्षेप में कहें तो चमचा…” अवतार छीना नामक यूजर ने लिखा, “गोयनका, सही कहा। कोच की एक अतिरिक्त जिम्मेदारी चुप रहना भी है।”

 

वीडियो- कुंबले को निकलवाने के बाद कोहली को मिली चेतावनी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग