ताज़ा खबर
 

पत्रकार गौरी लंकेश की प्‍वाइंट ब्‍लैंक रेंज पर गोली मारकर हत्‍या, भड़के लोग बोले- ये कैसा लोकतंत्र?

Journalist, Gauri Lankesh Murder: गौरी के माथे पर तीन गोलियां दागी गईं और उनकी तत्काल मौत हो गई।
गौरी लोकप्रिय कन्नड़ टेबलॉयड ‘लंकेश पत्रिका’ की संपादक थीं।

कन्नड़ की वरिष्ठ पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश की मंगलवार को अज्ञात हमलावरों ने यहां उनके निवास पर गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “हमें पता चला है कि गौरी को रात लगभग 8.30 बजे उस समय बिल्कुल करीब से गोली मारी गई, जब वह राजराजेश्वरी नगर में अपने घर के दरवाजे पर खड़ी थीं।” प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, गौरी के माथे पर तीन गोलियां दागी गईं और उनकी तत्काल मौत हो गई। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “हम घटना की जांच के लिए विशेष टीम गठित करेंगे।” गौरी लोकप्रिय कन्नड़ टेबलॉयड ‘लंकेश पत्रिका’ की संपादक थीं। नवंबर, 2016 में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के खिलाफ एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी, जिस कारण उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया गया। इस मामले में उन्हें छह माह जेल की सजा हुई थी।

लंकेश की हत्‍या की खबर आते ही सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्‍सा फूट पड़ा। फेसबुक और ट्विटर, दोनों प्रमुख वेबसाइट्स पर गौरी लंकेश की हत्या पर चर्चा हो रही है। पत्रकार मिलिंद खांडेकर ने लिखा है, ”BEA गौरी लंकेश की हत्‍या की निंदा करती है। दुखद है कि एक पत्रकार के साथ ऐसा हुआ। सरकार को दोषियों को पकड़ने के लिए त्‍वरित कार्रवाई करनी चाहिए।” लंकेश की हत्‍या के विरोध में प्रेस क्‍लब ऑफ इंडिया, प्रेस एसोसिएशनन, IWPC जैसे सिविल सोसायटी के संगठनों ने दिल्‍ली में बुधवार तीन बजे विरोध करने का ऐलान किया है। गौरव कुमार नाम के यूजर ने लंकेश को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि ‘आप गोली से किसी की आवाज नहीं दबा सकते। किसी को मार तो सकते हैं, मगर उनके विचार सदा जीवित रहेंगे।” गौरी लंकेश की हत्‍या को कुछ लोगों ने कट्टर हिंदुत्‍ववादी संगठनों की कारस्‍तानी बताया है।

नीरू भाटिया ने लिखा है, ”हम एक लोकतंत्र में बड़े हुए थे मगर दुख है कि ये लोकतंत्र नहीं।” फिल्‍मकार शेखर कपूर लिखते हैं, ”किसी के विचारों के लिए उसका कत्‍ल कर देना लोकतंत्र नहीं, बनाना रिपब्लिक की शुरुआत है, जहां शब्‍दों से ज्‍यादा तेज हिंसा बोलती है।”

देखें कैसे फूटा लोगों का गुस्‍सा:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग