ताज़ा खबर
 

सफेद मूस को देखने के लिए तीन साल तक करता रहा इंतजार, जब मिला तो कर लिया ‘कैद’

रेंडियर को लक का सिंबल भी माना जाता है, जो एक तकरीबन सफेद मोर की तरह भी लगता है। अगर किसी ने इसे देखा है तो स्वीडन, फिनलैंड और नॉर्वे के जंगलों में ही देखा है।
व्हाइट मूस की एक तस्वीर।(फोटो सोर्स- यूट्यूब)

सांता क्लॉज की कहानी तो आप भी जानते होंगे जो 24 दिसंबर की रात को आते हैं और बच्चों के तकिए के नीचे गिफ्ट्स और चॉकलेट्स रख कर देते हैं। सांता क्लॉज़ से जुडी एक प्रसिद्द लोककथा में सांता उत्तर में किसी दूर इलाके में एक बर्फीले देश में रहता है। वह पूरी दुनिया के बच्चों की एक लिस्ट बनाता है, उन्हें उनके व्यवहार को ध्यान में रखकर अलग अलग कैटेगरी(शरारती और अच्छे बच्चे) में बांटता है और क्रिसमस से पहले वाली रात, दुनिया के सभी अच्छे लड़कों और लड़कियों को खिलौने, कैंडी और बाकी गिफ्ट देता है। कभी-कभी शरारती बच्चों को कोयला देता है।

इस काम के लिए वह अपने एक बौने की सहायता लेता है जो वर्कशॉप में उसके लिए खिलौने बनाता है और रेंडियर उसकी गाड़ी को खींचता है। आप सोच रहे होंगे कि हम आपको सांता क्लॉज के बारे में क्यों बता रहे हैं? दरअसल हम सांता के बारे में इसलिए बता रहे हैं क्योंकि सांता की गाड़ी खींचने वाला रेंडियर मिल गया है। चौंकिए मत… हम बताते हैं आखिर क्या है पूरा माजरा।

हंस निल्सन नाम का शख्स व्हाइट मूस (सफेद हिरण की एक प्रजाति) को तलाशने के लिए जंगल-जंगल घूम रहा था और आखिरकार तीन साल बाद उसकी नजर एक व्हाइट मूस पर पड़ी जो झील को पार कर रहा था। यह व्हाइट मूस इतना आकर्षक है कि हंस निल्सन ने इसे तुरंत अपने कैमरे में कैद कर लिया। निल्सन ने इस मूस के बारे में बात करते हुए एक इंटरव्यू कहा था कि यह बिल्कुल सांता क्लॉज के रेंडियर जैसा ही लगता है।

बता दें कि रेंडियर को लक का सिंबल भी माना जाता है, जो एक तकरीबन सफेद मोर की तरह भी लगता है। अगर किसी ने इसे देखा है तो स्वीडन, फिनलैंड और नॉर्वे के जंगलों में ही देखा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.