December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

मछुआरे के जाल में फंसी ‘व्हेल मछली की उल्टी’, बन गया करोड़पति

कहते हैं कि जब इंसान की किस्मत साथ होती है तो वह रातों रात अमीर बन जाता है, लेकिन यहां तीन शख्स कुछ ही सेंकंड्स में अमीर बन गए।

मछुआरों के हाथ लगी व्हेल मछली की उल्टी। (Photo Source: Gulf news/ Twitter)

कहते हैं कि जब इंसान की किस्मत साथ होती है तो वह रातों रात अमीर बन जाता है, लेकिन यहां तीन शख्स कुछ ही सेंकंड्स में अमीर बन गए। दरअसल ओमान में तीन मछुआरों के हाथ मछली मारने के दौरान किस्मत से कुछ ऐसा लग गया, जिसने उनको करोड़पति बना दिया। टाइम्स ऑफ ओमान की रिपोर्ट के मुताबिक रोज की तरह फिशिंग ट्रिप पर गए मछुआरों के जाल में 80 किलो एम्बरग्रिस (व्हेली की उल्टी) फंस गई। एम्बरग्रिस (Ambergris) कहलाने वाली ‘व्हेल मछली की उल्टी’ दरअसल बहुत कीमती वैक्स होती है, जो स्पर्म व्हेल की आंतों से रिसने वाले पदार्थ से बनी होती है। यह आमतौर पर उष्णकटिबंधीय समुद्रों में तैरती मिल जाया करती है और इसका इस्तेमाल परफ्यूम बनाने में किया जाता है।

इस रेयर वैक्स की कीमत करीब 13 हजार डॉलर प्रति किलो (33 हजार ओमानी रिआल) है। इसकी कीमत 2.5 मिलियन डॉलर बताई जा रही है। मछुआरे सिनानी का कहना है कि उन्हें साउदी अरब और संयुक्त अरब अमीरत के ट्रेडर्स से 19,500 डॉलर प्रति किलो के हिसाब से एम्बरग्रिस देने का ऑफर मिल चुका है। लेकिन हम इसे 35 हजार डॉलर प्रति किलो के ऑफर तक होल्ड करके रखना चाहते हैं। फिशरमैन अल सिनानी ने बताया कि वह और उसके साथी रोज के कारोबार के लिए समुद्र में गए थे। इस दौरान उन्हें सागर में एम्बरग्रिस तैरते हुआ मिला, जिससे महक आ रही थी। रस्सी के सहारे तीनों ने एम्बरग्रिस को उठाया और बोट में रखा। अल सिनानी ने बताया कि उसके 20 साल के फिशिंग अनुभव में पहली बार उसके हाथ एम्बरग्रिस लगी है। सिनानी ने बताया कि उसने सिर्फ अब तक एम्बरग्रीस के बारे में सुना था।

अल सिनानी ने कहा कि एम्बरग्रीस मिलने के बाद हम उसे लेकर आए और एक्सपर्ट्स ने पुष्टि करते हुए कहा कि उन लोगों ने समुद्र में खजाना प्राप्त कर लिया है। जब इस बात का पुष्टि हो गई कि यह एम्बरग्रीस है तो हमने उसे काट और सुखाकर बेचने का फैसला किया। रिपोर्ट के मुताबिक वैक्स के लिए कई खरीददारों ने उनसे संपर्क किया है। इस मोम का इस्तेमाल कई लग्जरी-कॉस्मेटिक ब्रॉन्ड्स जैसे Chanel और Lanvin में इस्तेमाल होते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 7, 2016 6:32 pm

सबरंग