ताज़ा खबर
 

रामदेव पर दिग्विजय सिंह का निशाना- काले धन की तरह काले बालों का दावा भी झूठा

एक आचार्य दूसरे की बात को सार्वजनिक रूप से काटने लगे तो समझो काटने वाला उनके क्षेत्र में व्यापारिक मंदी का शिकार हो गया है।
कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने अखाड़ा परिषद द्वारा फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी करने पर ट्वीट किया है और पूछा है कि परिषद ने बाबा रामदेव का नाम सूची में क्यों नहीं रखा?

बाबा रामदेव को निशाने पर लेते हुए दिग्विजय सिंह ने एक ट्वीट को अपनी वॉल पर साझा किया है। ट्वीट में लिखा है कि रामदेव कहते हैं कि योग करने से बाल काले रहते हैं। मगर अब खुद उनके बाल सफेद हो रहे हैं। काले धन की तरह काले बालों का दावा भी झूठा है। इस ट्वीट को आचार्य प्रमोद ने किया था। इसके बाद दिग्विजय सिंह ने इसे रिट्वीट किया। इस ट्वीट के आने के बाद लोगों ने भी इस पर कमेंट करने शुरू कर दिए। पूजा गोस्वामी ने लिखा कि योग से योगगुरु ने उम्र रोकने का दावा नहीं किया। उम्र के साथ बाल पकेंगे ही। जो बाल समय से पहले सफेद हो गए हैं योग उनको काला करता है।

परी शर्मा ने कहा कि पुरुषार्थ से जलन नपुंसकता है और सदियों से चली आ रही है। कांग्रेस मुक्त भारत में बाबा का बहुत प्यार था। विजय ने लिखा एक आचार्य दूसरे की बात को सार्वजनिक रूप से काटने लगे तो समझो काटने वाला उनके क्षेत्र में व्यापारिक मंदी का शिकार हो गया है। कुलदीप ने कहा कि तेरे जैसे आचार्यों और कांग्रेसियों ने बाबा के बारे में बहुत गंदा प्रचार किया है वही कांग्रेस को 440 से 40 पर ले आए हैं। जीनत ने लिखा कि उनके बाल तो सामान्य उम्र से भी ज्यादा समय बाद पकने शुरू हुए हैं यह सब योग से ही हो पाया है।

अपूर्व ने आचार्य पर झूठा होने का दावा करने वाला बताते हुए लिखा कि मैं तो कहता हूं जब भी आइना उठाओ पहले देखो फिर दिखाओ। जलो मत बदबू आती है। नितीश कुमार ने लिखा कि आचार्य जी साफ क्यों नहीं कह देते कि योग करने से कोई फायदा नहीं होता बल्कि नुकसान होता है। अभिषेक ने लिखा कि जो मनुष्य दूसरों के काम में अड़चन डालता है, जो स्वार्थी, धोखेबाज, दूसरों से नफरत करने वाला होता है और दिल में क्रूरता रखता है, वह एक बिल्ली के समान होता है। विपिन जैन ने लिखा कि देख अकेले रामदेव से कितने लोगों की रोजी रोटी चल रही है। देश का पैसा देश के अंदर ही है। विदेशी कंपनियों को पीछे छोड़ दिया। तूने क्या किया। सूरज ने लिखा क्यों दूसरे व्यक्ति की उन्नति देखकर ईर्ष्या करता है रे बाबा। छोड़ न सब मोह माया है रे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग