April 25, 2017

ताज़ा खबर

 

ममता बनर्जी ने बताया ATM का नया फुल फार्म, ट्विटर यूजर्स ने खूब उड़ाया मजाक

संसद का शीतकालीन सत्र बुधवार यानी 16 नवंबर से शुरू हुआ।

सोशल मीडिया पर ममता की इस टिप्‍पणी पर खूब जोक्‍स बन रहे हैं।

देश में 500, 1000 रुपए के नोट बंद होने के बाद बैंकों, एटीएम के बाहर लंबी-लंबी कतारें लगी हैं। हालांकि पर्याप्‍त कैश न होने से लोग खाली हाथ वापस लौट रहे हैं। ऐसे में नरेंद्र मोदी सरकार के फैसले का विरोध कर रही पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने ATM का नया फुल-फार्म दिया है। तृणमूल कांग्रेस अध्‍यक्ष की अगुवाई में कुछ पार्टियों के सांसदों ने बुधवार को संसद का शीतकालीन सत्र श्‍ुारू होने पर विराेध मार्च निकाला। इसमें टीएमसी, शिवसेना, उमर अब्‍दुल्‍ला व आम आदमी पार्टी सांसद भगवंत मान शामिल हुए। नोटबंदी के विरोध में यह मार्च ममता दी की पहल पर निकाला गया है। दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस मार्च का समर्थन किया था, हालांकि उन्‍होंने इसमें हिस्‍सा नहीं लिया। मार्च के बाद मीडिया से बात करते हुए उन्‍होंने कहा कि ”पहले एटीएम का फुल फार्म होता था ‘आल टाइम मनी’ मगर अब इसका मतलब है ‘आएगा तो मिलेगा’। हालां‍कि एटीएम का फुल फार्म ‘ऑटोमेटेड टेलर मशीन’ होता है, मगर ममता ने इसमें बदलाव किया तो ट्विटर पर यूजर्स ने प्रतिक्रिया देने में देर नहीं लगाई। कई यूजर्स ने ममता पर व्‍हाट्सएप मैसेज पढ़कर सुनाने के लिए तंज कसा तो किसी ने उनके सेंस ऑफ ह्यूमर की तारीफ की।

संसद का शीतकालीन सत्र बुधवार यानी 16 नवंबर से शुरू हुआ। केंद्र सरकार द्वारा 8 नवंबर को विमुद्रीकरण के फैसले के बाद इस सत्र के हंगामेदार होने के आसार सही साबित हुए। राज्‍यसभा में कांग्रेस की ओर से आनंद शर्मा ने मोदी सरकार पर निशाना सा‍धा। उन्‍होंने कहा कि नोटबंदी के फैसले से पूरी दुनिया में संदेश गया कि भारत की अर्थव्‍यवस्‍था ‘काले धन पर चलती है।’ उन्‍होंने पूछा कि ‘किस कानून ने आपको अधिकार दिया कि हमें अपने अकाउंट से पैसे निकालने पर भी पाबंदी लगा रहे हैं?’

मायावती ने सदन में पीएम नरेंद्र मोदी को बुलाने की मांग उठाई। उन्‍होंने कि कहा कि नोटबंदी का मुद्दा संवदेशनील है इसलिए पीएम को सदन में चर्चा के वक्‍त मौजूद रहना चाहिए। इस पर नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद ने भी पीएम को बुलाए जाने की मांग कर दी। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने आश्‍वासन दिया कि वह इस बारे में बात करेंगे।

शीतकालीन सत्र: सीताराम येचुरी ने कहा- “2000 रुपए के नोट से भ्रष्टाचार दोगुना हो जाएगा”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 16, 2016 8:41 pm

  1. M
    Mahendra Sharma
    Nov 16, 2016 at 7:12 pm
    mai geeta ki sauh kha kar kaheta hu ki kya nere baat ka jawab pradhan mantri aur unke chamche denge? pradgan mantri ne kaha ki kuch dino ki ""prashav pida ragegi""is prashav pidaka matalab kya hota hai? sabhi bin byahi aur byahi mahilaon ka apman kiya hai barendra damodar d modi ne.u nko nafi magbe je liay koi kyu nahi kaheta hai?
    Reply
    1. A
      Arvind
      Nov 17, 2016 at 1:25 am
      Maya ne black money ki Maya ati nahi hai, Mamata ko black money se mamata hai ,Soniya- Rahul ka Ghotala ka arbo RS black money chala a, Arvind kejariwal rupiya kamaneke liye Anna hajare se TALAK leke bhrastachar Kane aaa,Mulayamko election shirpe hai, Shivshena logoko dhamkage bahot black money ethliya hai air usaka koi eman nahi hai vo to kal ISIS me sath bhi bethajayega.Janata eisae netaoko parakhlo sab matalabi hai vo log chahte hai ki 500. 1000 notes ka banned radd hojaye.
      Reply

      सबरंग