ताज़ा खबर
 

पहली बार पल भर के लिए कैमरे पर आई डेविड एटनबरो की भावुक अपील, डेढ करोड़ लोगों ने देखा वीडियो

बीबीसी के आखिरी एपिसोड कछ ऐसा ही था। इस एपिसोड में छोटे-छोटे कछुओं की शहरी जिंदगी के बारे में दिखाया गया। कैसे वह समुद्र से निकल कर शहरों की गलियों में पहुंच जाते हैं और किस तरह से अपनी जिंदगी बचाने के लिए संघर्ष करते हैं।
बीबीसी प्लेनेट अर्थ 2 के वर्णनकर्ता डेविड एटनबरो। (photo Source: Facebook)

बीते रविवार को बीबीसी प्लेनेंट अर्थ-2 डॉक्यूमेंट्री का आखिरी सीजन टीवी में दर्शकों को दिखाया गया। यह डॉक्यूमेंट्री का छठवां एपिसोड था। एपिसोड के बाद बीबीसी की इस डॉक्यूमेंट्री के रचयिता और स्क्रीप्ट राइटर सर डेविड एटनबरो पहली बार कैमरे पर लोगों के सामने आए। एटनबरो ने लोगों से एक भावुक अपील की। अपनी अपील में उन्होंने कहा कि लोगों को प्राकृति से अपना जुड़ाव खत्म नहीं करना चाहिए। बहुत कम संख्या में जानवर हमारे बीच रहने रहने के तरीके खोज पाते हैं। हर 10 साल में ब्रिटेन के जितना बड़ा हिस्सा कंक्रीट के जंगलों में बदल रहा है। लेकिन इस तरह नहीं होना चाहिए। क्या प्रकृति के साथ समन्वय स्थापित करके शहरों को नहीं बसाया जा सकता। वर्तमान में हम में से आधे लोग शहरी वातावरण में रहते हैं। मेरे खुद का घर लंदन में है। इस महान महानगर से हटकर जमीनी दुनिया की ओर देखने पर हमे प्रकृति का असली चेहरा दिखाई पड़ता है, जो अपनी ओर आकर्षित करता है। यह हमे याद दिलाता है कि कैसे हम कुदरत से दूर होते जा रहे हैं। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम इस धरती को सिर्फ अपने रहने लायक न बनाए बल्कि सभी जीवों के रहने लायक बनाएं।

बीबीसी के आखिरी एपिसोड कछ ऐसा ही था। इस एपिसोड में छोटे-छोटे कछुओं की शहरी जिंदगी के बारे में दिखाया गया। कैसे वह समुद्र से निकल कर शहरों की गलियों में पहुंच जाते हैं और किस तरह से अपनी जिंदगी बचाने के लिए संघर्ष करते हैं। सड़कों पर जलने वाली स्ट्रीट लाइट्स को चंद्रमा समझते हैं। बीबीसी ने अपने दर्शकों को शो के बाद ट्वीट करके बताया कि रास्ते में मिले सभी कछुए सही सलामत है। कैमरा बंद हो जाने के बाद क्रू के लोगों ने उन्हें इकट्ठा करके वापस समुद्र में छोड़ दिया था।

सर एटनबरो की इस अपील को फेसबुक पर अब तक 35 लाख से ज्य़ादा लोग सुन चुके हैं। इसके अलावा 85 लाख लोगों ने उनकी अपील को टीवी शो पर देखा। इसके अलावा सर एटनबरो की अपील को फेसबुक और अन्य सोशल माध्यमों के जरिए भी लोगों ने उनकी भावुक अपील को सुना। डेविड एटनबरो एक इंग्लिश ब्रॉडकास्टर्स और प्रकृतिवादी है। डेविट को बीबीसी की नेशनल हिस्ट्री यूनिट के साथ उनके  नौ लाइफ सीरीज के लिए जाने जाते हैं। जो कि सामूहिक रूप से इस ग्रह पर पौधे और पशु जीवन पर एक व्यापक सर्वेक्षण के रूप में। वह बीबीसी के सीनियर मैनेजर रह चुके हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.