ताज़ा खबर
 

ट्विटर पर राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी को हराया, पर बड़ा सवाल- क्या 2019 जीत पाएंगे?

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष बनने से पहले अपना ट्विटर हैंडल बदल सकते हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (बाएं) और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी अब सोशल मीडिया की ताकत भलीभांति समझने लगे हैं। इसीलिए लगातार सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर राहुल गांधी अपनी सक्रियता बढ़ा रहे हैं। अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पिछले तीन सालों के ट्वीट्स का विश्लेषण किया है। इस दौरान पाया गया है कि पिछले कुछ सप्ताह में राहुल गांधी के ट्वीट्स को सबसे ज्यादा लोगों ने रीट्वीट किया है। पीएम नरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल को राहुल गांधी ने पीछे छोड़ दिया है।

वहीं इनके टि्वटर फॉलोवर्स की बात की जाए तो पीएम मोदी को सबसे ज्यादा फॉलो (3 करोड़ 55 लाख) करते हैं, जबकि केजरीवाल इस मामले में दूसरे नंबर (1 करोड़ 20 लाख) पर हैं, वहीं राहुल गांधी को करीब 38 लाख लोग फॉलो करते हैं। ऑनलाइन कम्यूनिकेशन में आए बदलाव पर जुलाई में कांग्रेस सोशल मीडिया प्रमुख बनीं दिव्या स्पंदन कहती हैं, ‘हमने ऐसे मुद्दों पर ट्वीट किए जो उस समय काफी गर्म रहें। इससे ऑनलाइन यूजर्स हमसे जुड़े।’

रिपोर्ट के अनुसार जुलाई से सिंतबर के बीच राहुल गांधी को दस लाख से ज्यादा लोगों ने फॉलो किया है। अक्टूबर में राहुल गांधी के ट्विटर हैंडल ऑफिस ऑफ राहुल गांधी से पीएम मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से जुड़े ट्वीट किए गए। जिन्हें करीब बीस हजार बार रिट्वीट किया गया।

वहीं साल 2015 की पहली तिमाही में आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल से जुड़े हर ट्वीट को औसतन 1,665 बार रिट्वीट किया गया। जबकि पीएम मोदी से जुड़े 1,342 ट्वीट रिट्वीट किए गए। गौरतलब है कि साल 2015 में राहुल गांधी ने अपना पहला ट्वीट किया जबकि दूसरा ट्वीट करीब 12 महीने बाद किया। हालांकि इस दौरान मोदी केजरीवाल से आगे निकल गए। तब कांग्रेस भी सक्रिय हुई लेकिन इस मामले में वो मोदी से पीछे रहे। लेकिन इस साल सिंतबर में सबको चौंकाते हुए राहुल गांधी के ट्वीट औसतन 2,784 बार रिट्वीट किए गए जबकि मोदी के 2,506 और केजरीवाल 1,722 ट्वीट रिट्वीट किए गए। अक्टूबर में कांग्रेस उपाध्यक्ष के ट्वीट औसतन चार हजार बार रिट्वीट किए गए। वहीं बीते साल नवंबर में मोदी के ट्वीट को औसतन चार हजार बार रिट्वीट किया गया। ये ट्वीट नोटबंदी के दौरान किए गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    R.Mehta
    Oct 20, 2017 at 3:24 pm
    राहुल गाँधी अकेले ही दिख रहे हैं हर जगह जहाँ वो जा रहें हैं रैली अटेंड KARNE. इसलिए उनको चाहिए के जो बड़े नेता हैं कांग्रेस पार्टी में ,वैह उनके साथ रहे और वह लोग भी रैली मैं अपनी विचआर धरा रखें और तब लोगों को लग सकता है की उनकी पार्टी के नेता उनके साथ हैं .अगर वह अकेले ही रैली में नजर आएंगे तो उनका कम उम्र और कम तजुर्बा उनके रास्ते में आ सकता .इसके साथ उन्हे स्टेट के लोकल लीडर्स को भी अपने साथ मिलाना चाहिए ,जो अभी रू पार्टी की नीतिओं के खिलाफ हैं ..
    (0)(0)
    Reply
    1. M
      Mohanlal Bhatnagar
      Oct 20, 2017 at 1:43 pm
      papu is no more his team is doing twitte, Pappu has no vision, no brain, no logic only Ä reader" from given by congress team.
      (0)(0)
      Reply