ताज़ा खबर
 

पीएम नरेन्द्र मोदी को अपशब्द कहने पर माफी मांगने को तैयार कांग्रेस नेता मनीष तिवारी, लेकिन रखी ये शर्त…

मनीष तिवारी ने पूछा 'क्या पीएम नरेन्द्र मोदी ट्विटर पर उन लोगों को अनफॉलो करेंगे जो महिलाओं को गालियां देते हैं।'
कांग्रेस नेता मनीष तिवारी

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी पीएम नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन पर उनके लिए अपशब्द कहने पर माफी मांगने को तैयार हैं। लेकिन उन्होंने माफी के लिए एक शर्त रखी है। मनीष तिवारी ने ट्वीट किया, ‘मैं हिन्दी बातचीत में इस्तेमाल होने वाले एक शब्द का इस्तेमाल करने के लिए पीएम मोदी से माफी मांगने को तैयार हूं, लेकिन क्या पीएम नरेन्द्र मोदी ट्विटर पर उन लोगों को अनफॉलो करेंगे जो महिलाओं को गालियां देते हैं।’ इस मामले पर विवाद बढ़ता देख कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने एक के बाद एक 5 ट्वीट किये और सफाई दी। मनीष तिवारी ने कहा कि उनकी मंशा पीएम की गरिमा को ठेस पहुंचाने की नहीं थी। कांग्रेस नेता ने लिखा कि जिस शब्द को लेकर विवाद है उसे हिन्दी में मूर्खता के लिए इस्तेमामल किया जाता है। मनीष तिवारी ने कहा कि वे एक शख्स को ट्वविटर पर जवाब दे रहे थे। पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि वे माफी मांगने को तैयार हैं लेकिन पीएम क्या वैसे लोगों को अपने ट्विटर अकाउंट से अनफॉलो करेंगे जो महिलाओं को गालियां देते हैं।

दरअसल मनीष तिवारी ने पहले एक वीडियो शेयर किया जिसमें पीएम मोदी विदेश दौरे पर राष्ट्रगान के बीच में गलती से चल पड़ते हैं। इस वीडियो को शेयर करते हुए मनीष तिवारी ने पीएम मोदी का मजाक उड़ाने की कोशिश की। मनीष तिवारी के इस ट्वीट पर दीपक कुमार सिंह नाम के एक यूजर ने लिखा आप पीएम नरेन्द्र मोदी को देश भक्ति ना सिखाएं, खुद महात्मा गांधी भी उन्हें नहीं सिखा सकते।

दीपक कुमार सिंह के ट्वीट पर मनीष तिवारी की प्रतिक्रिया बेहद अपमानजनक थी।

मनीष तिवारी के इस ट्वीट पर बीजेपी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी। बीजेपी नेता और केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि कांग्रेस के ऐसे नेताओं को इलाज की जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Y
    Yogesh
    Sep 18, 2017 at 8:36 am
    सर, आप कुछ भी बोलें, क्षमा माँगे.न माँगे, इससे रत्ती भी फर्क पड़ता। बस इतना कि आप नगण्यता से शून्यता की तरफ जा रहे हैं।
    (0)(0)
    Reply
    1. अंसार
      Sep 18, 2017 at 12:44 am
      क्या गौरी लंकेश की मौत पर निखिल दधीचि पर कार्रवाई नहीं होनी चाहिए सबसे बड़ी बात यह है कि कोई भी व्यक्ति या राजनीतिक पार्टियों को कुछ लिखने से पहले सोचना चाहिए हम किधर जा रहें हैं
      (3)(0)
      Reply
      1. M
        manish agrawal
        Sep 17, 2017 at 10:02 pm
        मनीष तिवारीजी का ये ट्वीट निश्चित रूप से निंदनीय है परन्तु हिन्दोस्तान के होने वाले वजीरेआजम राहुलगांधी और उनके पूर्वजों के लिए , सोशल मीडिया पर होने वाले गाली गलौज पर भी सख्त पावंदी लगाई जाए
        (3)(0)
        Reply
        1. M
          manish agrawal
          Sep 17, 2017 at 9:56 pm
          रामज़ादे और हराम.ज़ादे की भाषा , बीजेपी वालों ने ही शुरू की ! हालाँकि सभी पक्षों को भाषा प्रयोग हर्गिज़ नहीं करना चाहिए !
          (0)(0)
          Reply
          1. M
            manish agrawal
            Sep 17, 2017 at 9:51 pm
            जो शब्द मनीष तिवारीजी ने प्रयोग किया है , वो सिर्फ एक SLANG है और व्यक्ति के लिए इस्तेमाल होता है ! लेकिन फिर भी , सार्वजनिक जीवन में decency कायम रखने के लिए , ऐसे शब्दों का प्रयोग नहीं करना चाहिए ! परन्तु ये भी ध्यान देना पड़ेगा की आजकल सोशल मीडिया पर राहुलगांधी और उनके पूर्वजों के बारे में गालियां और लिखी जा रही है और हिन्दोस्तान की हुकूमत , कोई कार्रवाई नहीं कर रही !
            (2)(0)
            Reply
            1. Load More Comments