ताज़ा खबर
 

इस कंपनी पर लग रहा रेप को बढ़ावा देने का आरोप

इस कंपनी के कंडोम को सबसे पहलेसोशल मीडिया प्लेटफॉर्म रैडिट (Reddit) के एक यूजर ने शेयर किया।
सांकेतिक तस्वीर। (Source: Thinkstock Images)

एक कंडोम कंपनी का विज्ञापन विवादों के घेरे में आ गया है। इस कंडोम कंपनी पर रेप और जबरन सेक्स को बढ़ावा देने का आरोप लगा है। ट्विटर पर इस विज्ञापन पर बहस हो रही है। इस कंपनी के कंडोम को सबसे पहलेसोशल मीडिया प्लेटफॉर्म रैडिट (Reddit) के एक यूजर ने शेयर किया। कंपनी ने ये कंडोम एक कॉलेज कैंपस में सुरक्षित सेक्स प्रमोशन के लिए बांटे थे। इस कंडोम की सबसे खास बात है इसके रैपर पर लिखी हुई एक लाइन। यहां लिखा है ‘गो फरदर विदाउट कंसेट’। जिसका मतलब होता है ‘बिना मर्जी के आगे बढ़ जाइए।’ हालांकि कंडोम के रैपर पर एक डूडल भी बना हुआ है। जो कि एक डोनट का है। इस शख्स ने जैसे ही कंडोम के इस पैकेट पर रैडिट पर शेयर किया इसकी तस्वीरें वायरल हो गईं। दुनिया भर में लोग कहने लगे कि एक कंडोम कंपनी बिना सहमति के सेक्स को बढ़ावा दे रही है, और कंपनी का ये कदम लगभग रेप को बढ़ावा देने जैसा है।

न्यूयॉर्क पोस्ट की एक रिपोर्ट के मुताबिक जरूरतों के मुताबिक कस्टमाइज्ड कंडोम बनाने वाली कंपनी ‘से इट विद ए कंडोम’ रैपर का ऐसा डिजाइन तैयार की कि लोग सोशल मीडिया इसकी चर्चा करने लगे। हालांकि कंडोम के रैपर पर ध्यान से देखें तो कंडोम बनाने वालों की मंशा सेक्सुअल वॉयलेंस को बढ़ावा देने की नहीं थी। कंडोम के रैपर पर ‘गो फरदर विदाउट कंसेट’ से पहले बनी आकृति दरअसल में ‘डू नॉट’ को बता रही थी। इस तरह से ये पूरा लाइन, ‘ डू नॉट गो फरदर विदाउट कंसेट’ होता है। लेकिन लोगों को ये बात नहीं समझ में आई। और लोगों ने इस पर तरह तरह से प्रतिक्रिया दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.