ताज़ा खबर
 

बरखा दत्‍त ने टाइम्‍स नाऊ और अरनब गोस्‍वामी पर साधा निशाना, कहा- क्‍या यह शख्‍स जर्नलिस्‍ट है? शर्मिंदा हूं

बरखा ने 27 जुलाई को किए गए एक ट्वीट में लिखा, 'टाइम्‍स नाऊ मीडिया के दमन की बात करता है। वो जर्नलिस्‍ट्स पर मामला चलाने और उन्‍हें सजा दिलाने की बात करता है। क्‍या यह शख्‍स जर्नलिस्‍ट है?'
Author नई दिल्‍ली | July 27, 2016 14:55 pm

कश्‍मीर में हुई हिंसा पर जारी बहस के बीच एनडीटीवी की कंसल्‍ट‍िंग एडिटर और मशहूर पत्रकार बरखा दत्‍त ने टाइम्‍स नाऊ के एडिटर इन चीफ अरनब गोस्‍वामी पर निशाना साधा है। बरखा ने 27 जुलाई को किए गए एक ट्वीट में लिखा, ‘टाइम्‍स नाऊ मीडिया के दमन की बात करता है। वो जर्नलिस्‍ट्स पर मामला चलाने और उन्‍हें सजा दिलाने की बात करता है। क्‍या यह शख्‍स जर्नलिस्‍ट है? उस शख्‍स की तरह ही इस इंडस्‍ट्री का हिस्‍सा होने के लिए शर्मिंदा हूं।’ बरखा दत्‍त ने सीधे सीधे अरनब का नाम तो नहीं लिया लेकिन माना जा रहा है कि उनके निशाने पर अरनब गोस्‍वामी ही थे।

क्‍या है मामला?
अरनब गोस्‍वामी ने एक दिन पहले अपने शो न्‍यूज ऑवर में जिस विषय पर चर्चा की, उसका विषय था pro pak doves silent. इस चर्चा में बीजेपी प्रवक्‍ता संबित पात्रा, आर्मी रिटायर्ड अफसर जनरल जीडी बक्‍शी, मेजर गौरव आर्या, कश्‍मीर के नेशनल पैंथर्स पार्टी के अध्‍यक्ष भीम सिंह, सुप्रीम कोर्ट की वकील मिहिरा सूद, पॉलिटिकल एक्‍ट‍िविस्‍ट जॉन दयाल मौजूद थे। मेजर गौरव आर्या वही शख्‍स हैं, जिनका कश्‍मीरियों को लिखा ओपन लेटर हाल ही में वायरल हो गया था। चर्चा के दौरान जीडी बक्‍शी ने मीडिया पर सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर क्‍यों कुछ बड़े अखबारों ने बुरहान वानी की लाश की फोटो छापी? ऐसा करना क्‍यों जरूरी था? जीडी बक्‍शी ने कहा, ‘यह इन्‍फॉर्मेशन वॉरफेयर (सूचना के जरिए जंग) का युग है। हम मीडिया के हमले का शिकार हो रहे हैं।’ बक्‍शी ने कहा कि कुछ मीडिया वाले कश्‍मीरी लोगों को अलगाव के लिए भड़का रहे हैं। इस दौरान अरनब ने कहा कि वे इससे पूरी तरह सहमत हैं। बक्‍शी ने और क्‍या कहा, जानने के लिए नीचे वीडियोज देखें।

इससे पहले, कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए अरनब गोस्‍वामी कहते हैं, ”जब लोग खुलेआम भारत का विरोध और पाकिस्‍तान व आतंकवादियों के लिए समर्थन जाहिर करते हैं तो ऐसे लोगों के साथ कैसा बर्ताव करना चाहिए?” अरनब ने कहा कि वे ऐसे लोगों को स्‍यूडो लिबरल्‍स (छद्म उदारवादी) कहते हैं। चर्चा के दौरान अरनब गोस्‍वामी ने कहा कि ऐसे लोगों का ट्रायल होना चाहिए। चर्चा के दौरान अरनब गोस्‍वामी ने एक जगह कहा यह भी कहा कि मीडिया में कुछ खास लोग बुरहान वाणी के लिए हमदर्दी दिखाते हैं। यह वही ग्रुप है जो अफजल गुरु के लिए काम करता है और उसकी फांसी को साजिश बताता है। अरनब ने कहा कि मीडिया में छिपे ऐसे लोगों पर बात होनी चाहिए।

चर्चा के दौरान बीजेपी प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने बरखा दत्‍त पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि मुझे पता है कि हाफिज सईद यहां  कुछ लोगों को पसंद करता है और उसका वीडियो भी आजकल चर्चाओं में है। संबित का इशारा बरखा दत्‍त की ओर ही था। इंटरनेट पर वायरल हो रहे इस वीडियो में हाफिज सईद बरखा दत्‍त की तारीफ करते नजर आता है। सबसे आखिर में देखें वीडियो

बरखा ने किया यह ट्वीट

अरनब के शो में हुई चर्चा के दौरान मीडिया को लेकर जीडी बक्‍शी ने क्‍या कहा, जानने के लिए नीचे देखें वीडियो 

पूरा कार्यक्रम देखने के लिए नीचे देखें वीडियो

वो वीडियो जिसमें हाफिज सईद बरखा दत्‍त की तारीफ करते नजर आता है।

VIRAL VIDEO: बीजेपी प्रवक्‍ता ने सिद्धू की ऐसी की मिमिक्री कि हंसते-हंसते बेहाल हुए अरनब गोस्‍वामी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    Mohit
    Jul 27, 2016 at 10:08 am
    Is this lady a journalist? W India is ashamed
    (3)(2)
    Reply
    1. S
      Shankar
      Jul 27, 2016 at 10:45 am
      barkha ab to sudhar jao.... hum bhi sharminda hain kee tum bhi journalist ho...
      (1)(1)
      Reply
      1. S
        Srinivas
        Jul 28, 2016 at 5:40 am
        बरखा तुम्हे भगवन ने शर्म अनाम की चीज दी है? लोगों के पास अब कोई नए गलियां नहीं है तुम्हे देने को समझ करो और अपनी विचार को फिर से ठीक करो.
        (0)(0)
        Reply
        1. A
          Anil m
          Jul 27, 2016 at 11:41 am
          बरखा दत्त नॉट आ जौर्नालिस्ट शी इस आ प्रोस्टिट्यूट. बाज़ारी औरत को अपनी गन्दी मुह नहीं खोलना चाहिए.
          (3)(5)
          Reply
          1. N
            Nupur Aggarwal
            Jul 28, 2016 at 7:30 am
            बहुत बढ़िया अनिल जी, महिलाओ के बारे में आपकी सोच को २१ तोफा की सलामी है.
            (0)(0)
            Reply
          2. V
            vivek
            Jul 27, 2016 at 11:04 am
            बरखा खुद पत्रकार हैं क्या ? ..... :) राडीया जी के साथ कौनसा जेर्नालिस्म कर रही थी ?
            (3)(2)
            Reply
            1. K
              Khaleeq Rehmani
              Jul 27, 2016 at 5:03 pm
              HAPPY THAT SOMEONE HAD COME FORWARD FROM THE NATIONAL MEDIA TO CONDEMN THE MISREPORTING AND DIVISIVE POLITICS. HATS OFF TO YOU MS.BARKHA DUTT.
              (2)(0)
              Reply
              1. M
                meharauliwala
                Jul 29, 2016 at 1:35 am
                स्वप्नदास gupta,चन्दन mitra, एम् जे अकबर , अनुपमखेर ..........अर्नब गोस्वामी zindabad
                (0)(0)
                Reply
                1. M
                  manish
                  Jul 27, 2016 at 9:04 am
                  हम भी अशमेड है की आप जैसे लोग हिंदुस्तानी है, लात मार के देश से निकल देना चाहिए आपको
                  (3)(2)
                  Reply
                  1. P
                    partha Banerjee
                    Jul 27, 2016 at 10:53 am
                    बरखा जो कहा था वो बिलकुल गलत था, किसीको अपनी मातृभूमि के बारे में कोई भी देश विरोधी कमैंट्स देने की कोई हक़ नही है चाहे वो कोई भी हो, किउ सेना की शहीदओ के बारे में देश को जानकारी नही देते है, सिर्फ आतंकवादी को सपोर्ट करते है ,
                    (2)(0)
                    Reply
                    1. P
                      paras nath
                      Jul 27, 2016 at 7:08 pm
                      Every one who is nationalist know what Barkha Datt is. We feel ashamed while it comes to our mind that she is an Indian journalist. We don't need her certificate about Arnab Goswami. She is at the bottom of the foot of Arnab when we compare her with him
                      (2)(0)
                      Reply
                      1. P
                        paras nath
                        Jul 27, 2016 at 10:00 am
                        In November 2010, the magazines OPEN and Outlook published transcripts of some telephone conversations between Nira Radia with some senior journalists, politicians, and corporates.[12][20] The Central Bureau of Investigation announced that they had 5,851 recordings of phone conversations by Radia, some of which outline Radia's attempts to broker deals in relation to the 2G spectrum .[21] Barkha Dutt's conversations with Radia were reported and Dutt became the face of the tapes scandal.[16
                        (0)(1)
                        Reply
                        1. R
                          Raj Krishna
                          Jul 29, 2016 at 10:24 am
                          Better deport it to piggystan! It will be more comfortable with it's brethren?????
                          (0)(0)
                          Reply
                          1. Time Pass
                            Jul 27, 2016 at 3:10 pm
                            का को अपनी असली इंडस्ट्री जी-बी-रोड वाली, ज्वाइन कर लेनी चाहिए |
                            (1)(1)
                            Reply
                            1. M
                              meharauliwala
                              Jul 29, 2016 at 1:37 am
                              वहां तो आप की आदरणीय माताजी हे सबसे अछि लगती hain
                              (0)(0)
                              Reply
                              1. R
                                Rajiv
                                Jul 27, 2016 at 8:01 pm
                                Bhagwa atankwad desh ka sabse bada gaddar है
                                (0)(1)
                                Reply
                              2. Sanjay Sinha
                                Jul 27, 2016 at 5:26 pm
                                आपको इस इंडस्ट्री में देख कर सारा देश शर्म कर रहा है.
                                (1)(0)
                                Reply
                                1. V
                                  Vijay
                                  Jul 27, 2016 at 10:32 am
                                  वह जो भी है देश के लिए सोचता है . तुम्हारी तरह यहां वहाँ मुंह नहीं मारता . तुम तो एक से भी बदतर हो.
                                  (3)(1)
                                  Reply
                                  1. शोम रतूड़ी
                                    Jul 27, 2016 at 9:33 am
                                    अगर हाफिज सईद बरखा दत्त की तारीफ नही भी करता तब भी पूरा देश बरखा के विचारों और उनकी नीयत को जानता है,वे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और छद्म उदारशीलता का नाम पर देश के खिलाफ आग उगलने पर लगी हैं,JNUकांडमें कन्हैयाके सरपर हाथ रखनेवाली वे पहली पत्रकार थीं,कश्मीर में छरों से घायल होने वाले पत्थरबाजों पर उनका प्यार सारे देश ने देखा,उन्होंने कभी विपरीत परिस्थिति में कश्मीर में उग्रवादियों से लड़ते जवानों के प्रति ानुि नही जताई.लेकिन वे जानती हैं देश के कानून इतने कमजोर हैं की उनका कुछ नही बिगड़ सकता.
                                    (4)(2)
                                    Reply
                                    1. Tapash Kumar Home
                                      Jul 27, 2016 at 10:30 am
                                      Traitors,betrayer -those who talk against our country for their cheap pority and business should be punished severely as per law of the land.Barkha Dutt does not have clean image.
                                      (3)(0)
                                      Reply
                                      1. T
                                        tp
                                        Jul 27, 2016 at 10:24 am
                                        बरखा दत्त तो वैसे भी भारतीय होने पे भी कलंक है ...जनलिस्ट तो बहुत दूर की बात है...इसे तो पाकिस्तान में ही होना चाहिए ... इसको कोई बोले आर्मी ज्वाइन करले ...पता चल जायेगा
                                        (3)(0)
                                        Reply
                                        1. Shrikant Sharma
                                          Jul 27, 2016 at 12:35 pm
                                          इस गन्दी बाज़ारू औरत ने कारगिल वॉर के दौरान पाकिस्तान से -इसी-से पैसा कहकर भारतीय सैनिकों के पोसिशन्स फ़्लैश कर के पाकिस्तानी गन्स शेलर्स KO दी थे.इस के पोसिशन्स प्रोवाइड करने के बाद कारगिल वॉर में पाकिस्तानियन ने जैम कर बॉम्बिंग की थे और भारतीय मरे गए थे.इसी लिए इस बाज़ारू औरत को बाद में सूडो सेक्युलर प्रेस ने इनाम भी दिया था.एक फ्री प्रेस के फंक्शन में मेरी प्रजेंस में सोनिया समर्थकों ने इस की इस वीरता की तारिफ तक की थे कारगिल वॉर के दौरान. अगर अमरीका रहा होता तो इन्क्वारी के बाद इस जेल होती.
                                          (3)(2)
                                          Reply
                                          1. Shrikant Sharma
                                            Jul 27, 2016 at 1:17 pm
                                            बाज़ारू औरत है एक रात का इन जॉरनॉस का रेट कितना होता है तीन दिन ठहरी थे कारगिल वॉर के दौरान एक कनाल के टेंट में और साड़ी कॉऑर्डिनेट्स दिए थे पाक आर्मी को फ़्लैश करके वाजपेयी के ज़माने मवीं.
                                            (0)(0)
                                            Reply
                                            1. V
                                              Vinay Totla
                                              Jul 27, 2016 at 10:17 am
                                              तो क्यों नहीं जाते हो लात मारने के लिये| सारा देश आपका ही है|
                                              (1)(1)
                                              Reply
                                              1. Load More Comments