April 29, 2017

ताज़ा खबर

 

जन आक्रोश दिवस: विपक्ष की ‘फूट’ पर ऐसे चुटकी ले रहे ट्विटर यूजर्स

सत्‍ताधारी भाजपा ने कांग्रेस के ‘जन आक्रोश दिवस’ के विरोध में ‘जन आभार दिवस’ का आयोजन किया।

ट्विटर पर जनआक्रोश दिवस टॉप पर ट्रेंड कर रहा है। (Source: Twitter)

केंद्र सरकार द्वारा 500, 1000 रुपए के पुराने नोट बंद करने के फैसले पर विपक्ष हमलावर है। सोमवार (28 नवंबर) को विपक्षी दल ‘जन आक्रोश दिवस’ के रूप में मना रहे हैं। दिल्‍ली में जहां कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने विरोध मार्च में हिस्‍सा लिया, वहीं बंगाल में मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी सड़क पर उतरीं और हजारों की भीड़ के साथ प्रदर्शन किया। इस विरोध में समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, राष्‍ट्रीय जनता दल, लेफ्ट पार्टियां, डीएमके व अन्‍य स्‍थानीय दल शामिल हैं। पहले चर्चा थी कि विपक्ष 28 को ‘भारत बंद’ का अाह्वान करेगा, मगर ऐन मौके पर इसे बदल कर ‘जन आक्रोश दिवस’ मनाने का फैसला किया गया। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि उनकी ‘पार्टी ने भारत बंद नहीं बुलाया है। हमने जन आक्रोश दिवस मनाने का फैसला किया है।’ बिहार, केरल और ओडिशा जैसे राज्‍यों में बंद की स्थिति देखने को मिली।

दूसरी तरफ, सत्‍ताधारी भाजपा ने कांग्रेस के ‘जन आक्रोश दिवस’ के विरोध में ‘जन आभार दिवस’ का आयोजन किया। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सोमवार को काम पर आए लोगों को मिठाई और फूल दिए। ‘भारत बंद’ को लेकर सत्‍ता-पक्ष और विपक्ष के बीच तकरार भी हुई। बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, ”भाजपा कह रही है कि विपक्ष ने भारत बंद बुलाया है, वहीं सच्चाई यह है कि पीएम ने नोटबंदी का फैसला लेकर खुद यही किया है।”

भाजपा के कई सहयोगी इस प्रदर्शन का हिस्‍सा बने हैं। शिवसेना के संजय राउत ने कहा, ”भ्रष्टाचार खत्म करने की किसी एक पार्टी की मोनोपोली नहीं है, सभी देशभक्त हैं।” हालांकि केंद्रीय मंत्रियों ने विपक्ष की इस पूरी कवायद को ‘ढोंग’ करार दिया है। वरिष्‍ठ भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा, ”कालेधन के खिलाफ आक्रोश होना चाहिए, लेकिन अफसोस इस बात का है कि विपक्ष की बुद्धि उल्टी चल रही है। विपक्ष को संसद में चर्चा करनी चाहिए। हम तैयार हैं, फिर वो क्यों भाग रहे हैं?”

सोशल मीडिया पर भी ‘भारत बंद’ और ‘जन आक्रो‍श दिवस’ की चर्चा है। हालांकि ज्‍यादातर ट्वीट्स मजाकिया लहजे में किए गए हैं, मगर #JanAkroshDiwas घंंटों तक टॉप ट्रेंड रहा और #BharathBandh हैशटैग के साथ भी हजारों ट्वीट्स किए गए। कांग्रेस और विपक्षी दल #JanAkroshDiwas के साथ एनडीए सरकार के फैसले को जन-विरोधी बता रहे हैं।

ट्विटर पर ‘जन आक्रोश दिवस’ को लेकर क्‍या स्थिति है, देखि‍ए:

देखें वीडियोज: 

भारत बंद: समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने नोटबंदी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया

भारत बंद: कम्यूनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं ने रेल रोककर किया नोटबंदी का विरोध

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 28, 2016 1:19 pm

  1. C
    Chanakya sharma
    Nov 28, 2016 at 9:59 am
    मेरी सोसाइटी में करीब २५० फ्लैट हैं , उनसे मालुम किया कि अगर किसी को नोट जमा करने हो या परेशानी हो बताये सभी ने कहा की अब कहाँ हैं पुराने नोट सब बैंक में जमा हो गए अब जो भी जमा हो रहे है वह दो नंबर वाले करा रहे हैं या बदलवा रहे हैं , मोदी जी का फार्मूला फ्लॉप है , दो नंबर वाले ही सड़को पर हैं या बईमान , हां पहले हफ्ते परेशानी हुई पर अब नहीं है। जाकर किसी भी शराब के ठेके पर देख आइये कैश बेशुमार इकट्ठा हो रहा है , भीड़ भी बैंको से ज्यादा मिलेगी। किसी भी मीडिया का ध्यान उतार नहीं है क्यों ?
    Reply
    1. S
      S.s. Rawat
      Nov 28, 2016 at 9:11 am
      आखिरी क़यामत अब जैसे जैसे दिन बीतते जा रहे हैं, राजनैतिक आतंकवादियों की साँसे उखड़ती जा रही हैं, अब सिर्फ एक महीना बस ३० दिन यानी ४ हफ्ते (७२० घंटे) सिर्फ ४३२०० मिनट, सर्दियों की लंबी रातें और घंटों की जगह मिनटों में गुजरते दिन, बिल्डर्स, छोटी बड़ी कई कंपनियों के मालिक और राजनैतिक आतंकवादी अब गहरे सदमे में हैं, ८ नवम्बर की रात आकाशमार्ग से टकराती आवाज ने इनके कान के परदे उखाड़ दिए हैं, हो सकता हैं कइयों की यादाश्त चली जाय इसमें हैरानी नहीं |
      Reply
      1. K
        Kaushalendra Sin
        Nov 28, 2016 at 6:58 pm
        ndtv,jansatta virodhi k prawakta ki tarah exposed huyee.Bharat band purntah viphal rahi.desh usual chalta raha.kahi kahi bat rakhne k liye dikhawa pradarsan hua.itna to roj chalta h.janta suppored PMMODI JI
        Reply

        सबरंग