ताज़ा खबर
 

इंटरनेट पर खूब घूम रहा जाटों के वोट पाने के लिए अमित शाह की अपील का दावा करने वाला ऑडियो

अमित शाह ने ऑडियो में कथित तोर पर कहा कि अगर आपकी नाराजगी है तो आप मेरी बात सुनने के बाद अपना मत बनाइये अप्रचार पर ध्यान मत दीजिए।
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह। (फाइल फोटो)

 

यूपी चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह और पीएम मोदी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। शायद यही वजह है कि दोनों नेता चुनाव प्रचार में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। दोनो ही नेता राज्य में ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर एक ऑडियो शेयर किया जा रहा है। जिसमें कथित तौर पर जाटों को लुभाने का प्रयास कर रहे हैं। यह ऑडियो कब रिकॉर्ड किया गया था, इस बात की पुष्टि नहीं हुई है। अमित शाह इस ऑडियो में कथित तौर पर पार्टी कार्यकर्ताओं को कह रहे हैं कि अगर चुनाव हार गए तो सत्ता में कौन आएगा। इस ऑडियो में अमित शाह जाटों से वोट मांग कर रहे हैं। यूपी चुनाव में चल रहे प्रचार पर चिंता जताते हुए कहा गया है कि ,”जिस तरह का प्रचार चल रहा है वो सही नहीं है। वास्तविकता ऐसी नहीं है। हमने किसी को ना नहीं बोली है ये बात में स्पष्ट कर देना चाहता हूं। दूसरी बात अगर समझौता होता भी है तो कौन किसके साथ जाएगा! हमें भी तो पार्टी चलानी है। जीतने के बाद सपा और कांग्रेस के साथ जाएगा तो मैं क्या करुं आप बताइये मुझे। ” ऑडियो में कथित तौर पर अमित शाह ने आगे कहा कि हमने अपनी बिरादरी के लोगों को वोट देने का प्रयास किया है। वोट किसको देना है ये आपका अधिकार है लेकिन अप्रचार के कारण अगर आप किसी ओर को वोट देते हैं तो ये गलत है। बिरादरी और भाजपा के बीच दूरी होने से ना भाजपा का भला है और ना ही बिरादरी का भला है।”

ऑडियो में कथित तौर पर अमित शाह ने कहा कि अगर आपकी नाराजगी है तो आप मेरी बात सुनने के बाद अपना मत बनाइये अप्रचार पर ध्यान मत दीजिए। भाजपा और बिरादरी का संबंध 600 साल पुराना है। हम इस प्रदेश में बिरादरी से कोई मतभेद नहीं चाहते हैं। इससे बिरादरी का नुकसान होगा और जिन लोगों ने आपके आरक्षण को रोकने के लिए जोर लगाया उन लोगों को फायदा होगा। ऑडियो में आगे पूछा कि अगर भाजपा हारती है तो सत्ता नें कौन आएगा! सरकार किसकी बन जाएगी। आपका जो भी निर्णय होगा उससे आपका क्या होगा, आपकी बिरादरी का क्या होगा। ये जरुर सोच लेना। अपने संबोधन में अमित शाह ने हरियाणा सरकार के मंत्री का भी नाम लिया और कहा कि कोई भी फैसला लेने से पहले दस बार सोच लेना।

ऑडियो में कथित तौर पर अमित शाह ने कहा कि पिछले 15 सालों में आरक्षण किस- किस पार्टी ने दिया। शाह ने मंत्री चौधरी विरेंद्र सिंह के बारे कहा कि वो दूसरी पार्टी से आए हैं। उन्हें उस पार्टी में क्या मिला! वो हमारी पार्टी में आए आते ही हमने उन्हें एक साल में केन्द्र में मंत्री बना दिया। इसके अलावा ऑडियो में कथित तोर पर अमित शाह ने कई बातें कहीं हैं जिसे आप ऑडियो में सुन सकते हैं।

 

सुने अमित शाह का ऑडियो-

हरियाणा निकाय चुनावों में बीजेपी जीती; अमित शाह बोले- “नोटबंदी पर मुहर है बीजेपी की जीत”

“राहुल गांधी का ‘दलाली’ वाला बयान भारतीय सेना के लिए अपमान है”: अमित शाह

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.