ताज़ा खबर
 

रात में अटल बिहारी वाजपेयी बोले- अयोध्‍या में यज्ञ के लिए समतल करनी होगी जमीन, अगले दि‍न कारसेवकों ने ढहा द‍िया ढांचा

लखनऊ में मंच से अटल बिहारी वाजपेयी कहते हैं, 'सुप्रीम कोर्ट ने हमें, अधिकार दिया है कि हम कार सेवा करेंगे। रोकने का तो सवाल ही नहीं।
बाबरी मस्जिद विध्वंस से ठीक एक रात पहले लकनऊ में कारसेवकों को संबोधित करते अटल बिहारी वाजपेयी।

बाबरी मस्जिद मामले में लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती सहित 13 नेताओं पर आपराधिक षडयंत्र का मामला चलेगा। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार (19 अप्रैल) को यह फैसला दिया। इसमें रोजाना सुनवाई होगी। धारा 120 (बी) के तहत मामला चलाया जाएगा। इसके अलावा मामले की सुनवाई कर रहे जज का इस बीच तबादला भी नहीं किया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने अभी कल्याण सिंह को इस मामले से बाहर रखा है। क्योंकि वह राजस्थान के गवर्नर हैं। जब तक वह गवर्नर रहेंगे तबतक उनपर कोई केस रजिस्टर नहीं होगा। इस ट्रायल को दो साल में खत्म करने की बात सुप्रीम कोर्ट ने कही है। इसके लिए मामले की लखनऊ कोर्ट में रोजाना सुनवाई होगी। केंद्रीय मंत्री उमा भारती पर भी केस चलेगा।

सुप्रीम कोर्ट के इस फरमान के बाद सोशल मीडिया पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का एक वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है। ये वीडियो 5 दिसंबर 1992 का है मतलब कि बाबरी मस्जिद गिराए जाने से ठीक एक रात पहले का है। लखनऊ में मंच से अटल बिहारी वाजपेयी कहते हैं, ‘सुप्रीम कोर्ट ने हमें, अधिकार दिया है कि हम कार सेवा करेंगे। रोकने का तो सवाल ही नहीं। कल कार सेवा करके अयोध्या में सुप्रीम कोर्ट के किसी आदेश की अवेहलना नहीं होगी। कार सेवा करके सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सम्मान किया जाएगा। खुदाई बाद वहां जो नुकीले पत्थर निकले, उनपर तो कोई नहीं बैठ सकता, तो जमीन को समतल करना पड़ेगा। बैठने लायक बनाना पड़ेगा। यज्ञ का आयोजन होगा। मैं नहीं जानता कल वहां क्या होगा, मेरी अयोध्या जाने की इच्छा ती लेकिन मुझे वहां नहीं जाने दिया जा रहा है।’

पूर्व प्रधानमंत्री के इस भाषण के अगले दिन क्या हुआ वो तो आज भारतीय राजनीति के काले इतिहास में दर्ज है। फिलहाल वायरल हो रहे इस वीडियो ने लोगों को बाबरी मस्जिद विध्वंस और उसके बाद के दोंगों के मंजर को एक बार फिर से ताजा कर दिया है।

बाबरी मस्जिद ढहाने से एक दिन पहले हुई थी पूरी रिहर्सल, चश्‍मदीद की जुबानी सुनिए पूरी कहानी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग