ताज़ा खबर
 

लाइव डिबेट में ओवैसी ने दिया एंकर को चैलेंज, जवाब मिला- आज आपके मुंह से मिसफायर हो गया है

कार्यक्रम के बीच में ओवैसी ने एंकर से कहा कि मैं आपको चैलेंज कर रहा हूं कि गुजरात में एक औरत बैठी है उसको इंसाफ दिलाइए।
एक टीवी डिबेट के दौरान एंकर के सवालों का जवाब देते हैदराबाद से सांसद और एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी। (फोटो सोर्स वीडियो स्क्रीन शॉट)

राम मंदिर मुद्दे पर आयोजित न्यूज 18 इंडिया के एक कार्यक्रम ‘हम तो पूछेंगे’ में हैदराबाद सांसद और AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की टीवी एंकर से तीखी नोंक-झोंक हुई। दरअसल कार्यक्रम में राम मंदिर-बाबरी मस्जिद समाधान पर आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर की बिचौलिए वाली भूमिका सवाल उठाए गए। कार्यक्रम में ओवैसी ने उनकी भूमिका पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा, ‘रविशंकर झूठ बोल रहे हैं और राम मंदिर मुद्दे पर उन्होंने जिस वसीम रिजवी से बात की वो खुद यजीद का एजेंट है। वो अब्बास का साथी नहीं है। योगी सरकार ने खुद उसे पद से हटाया दिया था, तब सुप्रीम कोर्ट जाकर उसने सरकार के आदेश पर रोक लगवाई।’ वसीम रिजवी शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन हैं। प्रोग्राम में राम मंदिर समाधान पर ओवैसी ने आगे कहा, ‘इस मुद्दे पर क्या बातचीत होगी। रवि शंकर प्रसाद दबी जुबान में मुस्लिमों से कह चुके हैं कि आप अपने हक से पीछे हट जाइए। हालांकि उन्होंने ये साफ तौर पर नहीं कहा।’

इस दौरान प्रोग्राम के एंकर सुमित अवस्थी ने पूछा कि राम मंदिर अयोध्या में नहीं होगा तो कहां होगा? अगर हिंदुस्तान में राम भगवान पैदा नहीं हुए तो कहां पैदा हुए? तब नाराज ओवैसी ने एंकर से पूछा, ‘सवाल इसका नहीं है बल्कि सवाल ये है कि बाबरी मस्जिद की शहादत को आप जीत का नाम देंगे या कानून तोड़ने का? हालांकि मैं कह रहा हूं कि इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का जो फैसला आएगा। तब सारी दुनिया को तब पता चल जाएगा कि आस्था की बुनियाद पर फैसला आया या सबूतों की बुनियाद पर।’ कार्यक्रम में तीन तलाक के मुद्दे पर भी बहस हुई और इस मुद्दे पर मुस्लिम देशों का कानून पर भी बात हुई।

इस दौरान मुस्लिम समाज पर हो रहे कथित अत्याचार पर ओवैसी खासे भड़क गए उन्होंने एंकर सुमित अवस्थी को चुनौती देते हुए कहा, ‘मैं आपको चैलेंज कर रहा हूं कि गुजरात में एक औरत बैठी है उसको इंसाफ दिलाइए। आप इस मुद्दे पर कार्यक्रम करेंगे? आपका मुंह नहीं खुलेगा उसके लिए।’ तब इसका जवाब देते हुए एंकर ने कहा, ‘असद भाई आज आपके मुंह से मिस फायर हो गया! ये बात आप भी जानते हैं।’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manish agrawal
    Nov 15, 2017 at 4:04 pm
    कल्याण सिंह की बीजेपी हुकूमत ने,हिन्दोस्तान की अदालत-ए-उज़्मा में,हलफनामा दिया हुआ था कि बाबरीमस्जिद की पूरी हिफाज़त की जायेगी,लेकिन फिर भी मस्जिद को शहीद कर दिया गया ! यानि बीजेपी हुकूमत की नाकामयाबी और अदालत द्वारा दिए गए stay को कायम रखवाने में नाफरमानी साबित हुयी ! जब अदालत के जारी किये गए stay के हुक्मनामे के बाबजूद बाबरी मस्जिद को शहीद कर दिया गया तो क्या अदालत की ये जिम्मेदारी नहीं बनती थी की पहले बाबरी मस्जिद की दोवारा तामीर करवाकर,स्टे आर्डर को enforce कराया जाता,और तब तक अदालती कार्रवाई मुल्तवी रखी जाती?अयोध्या में प्रभु श्रीराम का जन्म हुआ था,इस बात से किसी को इंकार नहीं,पर माता कौशल्या ने मस्जिद वाले भूखंड पर ही उनको जन्म दिया था, ये तथ्य साबित नहीं किया जा सकता ! पुरातत्व सर्वेक्षण महकमे के द्वारा बाबरीमस्जिद के नीचे खुदाई की गयी थी,उसमे निकले अवशेष की कार्बन डेटिंग से यदि वो डेढ़ लाख वर्ष पुराने राजा दशरथ के महल के साबित हों, तब कुछ बात बनेगी,अन्यथा ये सब वकवास है ! हिन्दुओं की किसी भी मज़हबी किताब में रामजन्मभूमि की कोई निशानी नहीं दी गयी है, ना ही अयोध्या का नक्शा दिया है !
    (4)(2)
    Reply