December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

अरविंद केजरीवाल ने कहा- यूपी चुनाव में BJP से बदला लेगी जनता, लोगों ने पूछे चुटीले सवाल

केजरीवाल और उनकी पार्टी नोटबंदी के फैसले का जमकर विरोध कर रही है।

केजरीवाल का दावा है कि यूपी की जनता विधानसभा चुनावों में भाजपा को सबक सिखाएगी। (Photo: PTI)

आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने आगामी उत्‍तर प्रदेश चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की करारी हार की भविष्‍यवाणी की है। उन्‍होंने ट्विटर पर लिखा है कि उत्‍तर प्रदेश की जनता केंद्र सरकार के नोटबंदी से फैसले से बहुत परेशान है। केजरीवाल ने कहा कि 2017 में होने वाले विधानसभा चुनावों में जनता बैंकों व एटीएम के बाहर लाइन में बिताए एक-एक मिनट का हिसाब भाजपा से लेगी। उन्‍होंने ट्वीट में लिखा, ”UP की जनता नोटबंदी से बेहद नाराज़। विधानसभा चुनाव में भाजपा से लाइन में बिताए एक एक मिनट का बदला लेगी।” केजरीवाल और उनकी पार्टी नोटबंदी के फैसले का जमकर विरोध कर रही है। खुद ‘आप’ भी उत्‍तर प्रदेश चुनावों में ताल ठोकेंगी, ऐसे में अरविंद प्रदेश में विपक्षियों में निशाना साध जमीन बनाने की कोशिश कर रहे हैं। गुरुवार को केजरीवाल ने नोटबंदी पर दो कार्टून भी शेयर किए थे, जिसमें नरेंद्र मोदी सरकार के इस फैसले की आलोचना की गई थी। इस पर ट्विटर यूजर्स ने उन्‍हें घेर लिया था।

केजरीवाल ने यूपी चुनाव पर ट्वीट क्‍या किया, यूजर्स ने अपने-अपने तर्कों के साथ उन्‍हें जवाब दिया। सुमित मिश्रा नाम के यूजर ने पूछा, ”क्या ये बदला महाराष्ट्र और गुजरात की जनता सरीखा होगा जिसने हालिया चुनावों में भाजपा को पूर्ण समर्थन दिया?” ऋषि ने कहा कि ‘आपने ऐसा ही कुछ गुजरात के लोगों के लिए भी कहा था, लेकिन उन्‍होंने बीजेपी की बजाय ‘आप’ से बदला ले लिया।’ एक यूजर ने लिखा, ‘बदले की बात न ही करो तो अच्‍छा है। दिल्‍ली की जनता यही आस लगाए बैठी है।’

रवि तिवारी ने लिखा, ”तुम्हारे से दिल्ली की जनता हिसाब लेगी। झूठे वादे करके एक भी वादे पूरे नही किये हो। जनता जबाब मांगेगी या झाड़ू मारेगी।” धीरेंद्र ने कहा, ”इसकी चिंता आपको क्यों हो रही है यह तो भाजपा की चिंता का विषय है दिल्ली की जनता के बारे मे सोचो जिसने CM बनाया है।”

देखें, ट्विटर पर यूजर्स ने क्‍या दिया जवाब:

अरविंद केजरीवाल का कहना है कि केंद्र सरकार का 500, 1000 के नोट बंद करने का फैसला कालाधन, भ्रष्टाचार, जाली नोटों के प्रसार और आतंकवाद को वित्त पोषण पर रोक लगाने में नाकाम रहा है। उन्‍होंने 29 नवंबर को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में आरोप लगाया था कि भाजपा ने नोटबंदी के कदम से पहले बिहार और अन्य राज्यों में जमीन खरीद कर अपने कालेधन को ठिकाना लगा दिया।

सेलरी डे: दिल्‍ली और पंचकूला में बैंकों, एटीएम के बाहर लगी लंबी कतारें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 1, 2016 3:44 pm

सबरंग