April 29, 2017

ताज़ा खबर

 

अरविंद केजरीवाल ने सरकार पर निशाना साधते हुए किया यह ट्वीट, मिला लोगों का भरपूर समर्थन

अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके 500-1000 के नोट बैन करने को लेकर ट्वीट किया।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके 500-1000 के नोट बैन करने को लेकर ट्वीट किया। रविवार (13 नवंबर) को केजरीवाल ने लिखा, ‘जनता त्रस्त, भ्रष्टाचारी मस्त’ इस ट्वीट का लोगों ने समर्थन किया। इसके बाद ट्विटर पर #जनता_त्रस्त_भ्रष्टाचारी_मस्त ट्रेंड भी करने लगा। इसपर कोई मोदी को मनमोहन सिंह की नकल करने वाला कह रहा था तो कोई कह रहा था कि वह लोगों को मुश्किल में छोड़कर जापान भाग गए। ट्विटर पर एक ने लिखा, ‘बह न दूध, न शाम को खाना आसान ! साहब को क्या ! वो तो निकल लिए जापान !’, दूसरे ने लिखा, ‘मोदी जी कुछ तो शर्म कीजिये….आप के तानाशाही भरे फरमान का असर नवजात शिशु से लेकर बुजुर्ग तक पर पड़ रहा है..!’ वहीं तीसरे ने लिखा, ‘मेरी जेब में कुल 40 रुपए पड़े हैं। पता नहीं यह कबतक चलेंगे। कोई भी एटीम काम नहीं कर रहा और बैंकों के बाहर लंबी लाइन है।’

केजरीवाल ने सरकार के फैसले की पहली बार आलोचना नहीं की है। शनिवार को केजरीवाल ने नोटों के अमान्यीकरण के फैसले को तुरंत वापस लेने की मांग करते हुए आरोप लगाया था कि नोटों को अमान्य करार देना एक ‘बहुत बड़ा घोटाला’ है और यह भी कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी की घोषणा से काफी समय पहले भाजपा ने अपने सभी ‘मित्रों’ को इस बारे में सूचित कर दिया था। अपने दावों की पुष्टि के लिए उन्होंने आरोप लगाया कि बड़े नोटों को अमान्य करने की प्रधानमंत्री की घोषणा से काफी दिन पहले भाजपा नेता को 2,000 रुपए के नए नोटों के साथ देखा गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 500 और 1000 के नोट बंद करने के अगले दिन कई अखबारो में पेटीएम का विज्ञापन छपा था। पेटीएम के उस विज्ञापन में नरेंद्र मोदी की तस्वीर थी। विज्ञापन में लिखा गया था, ‘पेटीएम की तरफ से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को आजादी के बाद अबतक का सबसे बोल्ड स्टेप लेने के लिए बधाई।’ इस विज्ञापन पर भी अरविंद केजरीवाल ने सवाल उठाए थे। उन्होंने अपने टि्वटर अकाउंट पर लिखा था, ‘पीएम मोदी की घोषणा से सबसे ज्यादा फायदा पेटीएम को हुआ है। अगले दिन पीएम की तस्वीर विज्ञापनों में देखने को मिली। मिस्टर पीएम, डील क्या है?’ वहीं दूसरी ट्वीट में केजरीवाल ने लिखा है, ‘बिलकुल शर्मनाक। क्या लोग चाहते हैं कि उनके पीएम प्राइवेट कंपनियों के लिए मॉडलिंग करें। कल को ये कंपनियां कुछ गलत करती हैं तो इनके खिलाफ कौन कार्रवाई करेगा?’

 

केजरीवाल ने यह ट्वीट किया-

 

लोगों ने ऐसे-ऐसे ट्वीट किए-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 13, 2016 2:26 pm

  1. S
    SANTOSH KR
    Nov 17, 2016 at 11:25 am
    IK VICHAR AAJ KE DESH KE HALAT KO SAMJHNE KE LIYE . PLS ANSWER ME OR SHARE YOUR VIEW. Mai apne INDIAN LOW ke hisab se ''BOLNE KI AZADI'' , KO USE KARTE HUE YE SAB LIKH RAHA HU . 🗣🙏🏿Modi akhir insan hi to hai . Koi jaruri thodi na hai ki uska har faisLa jo unhone liye hai , wo har bar thik hi ho , as a human , modi ji thik hai , OR jo unhone faisla liya uska mai ik indian hone ke nate samaan karte hu or mai 4000 rs badalwane bank ki line mai 7.30 hrs khada bhi ho a. Par mai
    Reply
    1. निखिल
      Nov 13, 2016 at 3:35 pm
      यह निर्णय अविचार अव्यवस्था से अराजकता कि और मोदी सरकार ऐसा हे।चुनवी हडबडी और बडबोलेपन का दबाव दिखता हे सरकार कृषी, रोजगार, महंगाई, सौहार्दता, आम मती में खास कुछ नही कर पाई हेअब तो लागत हे"एक ही भुल क का फुलं"
      Reply

      सबरंग