May 27, 2017

ताज़ा खबर

 

जाकिर नाइक का समर्थन कर चुके शमशेर पठान को फीमेल पेनेलिस्ट का अपमान करने पर अरनब गोस्वामी ने शो से निकाला!

ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर पत्रकार अर्णब गोस्वामी ने एक डिबेट करवाई। उस डिबेट में रिटायर्ड एसीपी शमशेर पठान भी आए हुए थे।

शमशेर पठान जाकिर नाईक के भी करीबी माने जाते हैं। जाकिर नाइक का नाम बांग्लादेश में हुए ब्लास्ट में आने पर शमशेर पठान जाकिर के समर्थन में उतरे

ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर पत्रकार अर्णब गोस्वामी ने एक डिबेट करवाई। उस डिबेट में रिटायर्ड एसीपी शमशेर पठान भी आए हुए थे। लाइव शो के दौरान अर्णब और शमशेर के बीच गहमा-गहमी इतनी बढ़ गई कि अर्णब ने बीच शो में शमशेर को निकल जाने के लिए कहा। दरअसल, डिबेट में अर्णब ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर शमशेर की राय जानना चाहते हैं। इसपर शमशेर भड़क जाते हैं। वह शो में मौजूद गेस्ट शाजिया इल्मी और दूसरी महिला गेस्ट से कुछ ऐसा कह देते हैं जो अर्णब को ‘पसंद’ नहीं आता। इसपर अर्णब शमशेर को वहां से जाने के लिए कहते देते हैं। शमशेर काफी देर तक अर्णब से बहस करते हैं लेकिन आखिर में वह खुद ही उठकर वहां से चले ही जाते हैं।

गौरतलब है कि शमशेर पठान जाकिर नाईक के भी करीबी माने जाते हैं। जाकिर नाइक का नाम बांग्लादेश में हुए ब्लास्ट में आने पर शमशेर पठान जाकिर के समर्थन में उतरे थे। पठान ने कहा था कि वो जाकिर को कानूनी मदद के लिए भी तैयार हैं। उस वक्त जाकिर की मुश्किलें बढ़ती जा रही थीं। भारत के साथ बांग्लादेश में भी उसके खिलाफ जांच चल रही थी। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शमशेर पठान वही पुलिसवाले हैं जिन्होंने एक जमाने में अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा शकील को गिरफ्तार किया था। अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का गुर्गा छोटा शकील जब एकमात्र बार मुंबई में गिरफ्तार हुआ था, तो पठान ने ही उसकी गिरफ्तारी की थी। पठान अवामी विकास पार्टी नाम का एक राजनीतिक दल भी चलाते हैं।

Read Also: ओम थानवी का टाइम्‍स नाऊ पर निशाना- थानेदार की तरह हड़काते हैं अरनब, बोलने के अधिकार की करते हैं हत्‍या

देखिए शो की वीडियो-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 14, 2016 3:58 pm

  1. R
    RAUF
    Oct 15, 2016 at 12:48 pm
    HAAAAA ARNAB KA JOKE HO A
    Reply

    सबरंग