April 26, 2017

ताज़ा खबर

 

आनंद महिंद्रा से यूजर ने पूछा- मैं भी स्‍कॉर्पियो ले आऊं तो गाड़ी दोगे? मिला मजेदार जवाब

आनंद महिंद्रा भारत के दिग्‍गज कारोबारी समूह महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन हैं।

एक बार ट्विटर पर किसी ने आनंद महिंद्रा को एक गाड़ी खरीदने की सलाह दे डाली थी।

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा की हाजिरजवाबी को कई लोग पसंद करते हैं। ट्विटर पर एक्टिव रहने वाले महिंद्रा खाली समय में अपने फॉलोवर्स को जवाब देते हैं। दो दिन पहले, अनिल नाम के यूजर ने एक महिंद्रा स्‍कॉर्पियो की तस्‍वीर शेयर करते हुए महिंद्रा से कहा था कि ‘इस फोटो से पता चलता है कि किस तरह से स्‍कॉर्पियो का डिजाइन भारतीय सड़कों पर मशहूर है। यह इंसान के बड़ा सोचने का तरीका है।’ इस पर आनंद महिंद्रा ने गाड़ी को खरीदने की इच्‍छा जता दी। उन्‍होंने कहा, ”धन्‍यवाद। क्‍या आप इसे ढूंढ़ने में मेरी मदद कर सकते हैं? मैं इसे हमारे म्‍यूजियम के लिए खरीदना चाहूंगा और बदले में चार पहिया देना चाहूंगा।” गाड़ी के बदले गाड़ी का ऑफर देखकर एक अन्‍य यूजर ने पूछा, ”अच्‍छा स्‍टार्टअप है, अगर मैं भी ऐसा करूंग तो मुझे भी चार पहिया मिलेगी?” तो महिंद्रा ने जवाब में लिखा, ”अब ये संदेश भारतीय कारोबार का जीता-जागता उदाहरण है। सॉरी भाई, वह ऑफर सिर्फ एक के लिए था।”

आंनद महिंद्रा के इस जवाब के लिए यूजर्स ने उनकी तारीफ भी की। सोमवार को आनंद महिंद्रा ने एक पुरानी बॉलीवुड फिल्‍म का फोटो शेयर करते हुए लिखा कि ”अंदाजा लगाने के लिए कोई इनाम नहीं कि मुझे पुरानी फिल्‍में क्‍यों पसंद हैं। मेरी जान…मेरी जान… मेरी गाड़ी पहचानो..” फोटो में धर्मेंद्र महिंद्रा की कमांडर जीप चलाते दिख रहे हैं। इस पर एक यूजर ने पूछा कि ’60 और 70 के दशक की फिल्‍मों में दिखाई गई महिंद्रा जीपों में रजिस्‍ट्रेशन नंबर ‘एमआरएफ’ से क्‍यों शुरू होते हैं?’ कई यूजर्स ने महिंद्रा की मार्केटिंग के अंदाज को भी सराहा।

एक बार ट्विटर पर किसी ने आनंद महिंद्रा को एक गाड़ी खरीदने की सलाह दे डाली थी। उस ट्वीट का आनंद ने जो जवाब दिया उसे सुनकर सब हैरान रह गए। आनंद महिंद्रा ने ट्विटर पर Maserati Birdcage नाम की गाड़ी के बारे में ट्वीट करते हुए लिखा, ‘यह एक ऐसा पिंजरा है जिसमें मैं कैद होकर रहने को तैयार हूं।’ यह गाड़ी इटली की डिजाइन और इंजीनियरिंग कंपनी Pininfarina ने बनाई है।

इसपर सिद्धांत खन्ना नाम के ट्विटर अकाउंट ने उन्हें सलाह देते हुए लिखा था, ‘आनंद महिंद्रा, आपको उसे खरीदने से कौन रोक रहा है? जाइए और ले लीजिए।’ इसपर आनंद महिंद्रा ने खन्ना को लिखा, ‘उसकी जगह हम लोगों ने कंपनी ही खरीद ली है।‘

Idea-Vodafone के विलय का ऐलान, बनेंगी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी, वीडियो देखें: 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 20, 2017 8:44 pm

  1. No Comments.

सबरंग