December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

ट्विटर ट्रेंडिंग वार में सीएम अखिलेश यादव ने पिता और गुरु मुलायम सिंह यादव को पछाड़ा

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो मामला केवल जबानी आरोप-प्रत्यारोप तक नहीं रहा। अखिलेश के भाषण के बीच में ही शिवपाल ने उनके हाथ से माइक छीन कर कहा दिया, "मुख्यमंत्रीजी, झूठ बोल रहे हैं?"

समाजवादी पार्टी और मुलायम सिंह यादव के परिवार में दरार के लिए शिवपाल यादव और अमर सिंह को कारण बताया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के चुनावी इतिहास में सोमवार (24 अक्टूबर) उल्लेखनीय रहेगा। प्रदेश के इतिहास में ऐसा शायद पहली बार हुआ होगा कि सूबे के सीएम को अपने ही पिता और पार्टी के सामने सफाई दी होगी। समाजवादी पार्टी के लखनऊ स्थित मुख्यालय में हुई सभा में सार्वजनिक रूप से पार्टी के राष्ट्रीय प्रमुख मुलायम सिंह यादव, प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव और सीएम अखिलेश आपस में गुत्थमगुत्था नजर आए। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो मामला केवल जबानी आरोप-प्रत्यारोप तक नहीं रहा। अखिलेश के भाषण के बीच में ही शिवपाल ने उनके हाथ से माइक छीन कर कहा दिया, “मुख्यमंत्रीजी, झूठ बोल रहे हैं?” वहीं मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अखिलेश ने पिता मुलायम के भाषण के बीच में उन्हें टोककर अमर सिंह की तरफ इशारा करते हुए कहा, “मेरा खिलाफ मीडिया में खबरें प्लांट कराके मुझे कैसे मजबूत किया जा रहा है?” बैठक खत्म होने तक साफ हो गया कि मुलायम अखिलेश के खिलाफ और शिवपाल और अमर सिंह के साथ हैं। लेकिन ट्विटर पर अखिलेश अपने पिता मुलायम पर भारी पड़े।

वीडियो: देखें समाजवादी पार्टी के अंदर मची घमासान का विश्लेषण- 

सोमवार सुबह जब सपा की बैठक शुरू हुई तो मीडिया के साथ ही सोशल मीडिया पर भी यही मुद्दा छाया हुआ था। दोपहर तक ट्विटर ट्रेंड में मुलायम सिंह यादव के नाम से दो ट्रेंड चल रहे थे तो अखिलेश के नाम का का केवल एक ट्रेंड भारत के टॉप 10 ट्रेंडिंग टॉपिक में था। लेकिन थोड़ी देर बाद ही भारत के टॉप 10 ट्रेंडिंग टॉपिक में अखिलेश का नाम ऊपर हो गया और मुलायम का एक ही नाम रह गया।  सोमवार को अखिलेश ने लखनऊ की सभा में मुलायम सिंह यादव को अपना पिता और गुरु बताया था। उन्होंने अपने भाषण के अंत में कहा कि मुलायम कहेंगे तो वो सीएम की कुर्सी छोड़ देंगे। हालांकि मुलायम ने अपने भाषण में साफ कर दिया कि वो अमर सिंह को पार्टी से नहीं हटाएंगे। मुलायम ने कहा कि अखिलेश प्रदेश के सीएम और शिवपाल पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बने रहेंगे।

Read Also: मुलायम बोले- अमर सिंह के सारे पाप माफ, शिवपाल का भी किया बचाव, अलग-थलग पड़े अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी का ताजा नाटकीय घटनाक्रम रविवार को तब शुरू हुआ जब सीएम अखिलेश ने चाचा शिवपाल समेत चार मंत्रियों को अपने कैबिनेट से बाहर कर दिया। अखिलेश ने जब विधायकों की बैठक के बाद ये फैसला सार्वजनिक किया तो मुलायम के घर पर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक चल रही थी। थोड़ी देर बाद खबर आई कि मुलायम ने अपने चचेरे भाई रामगोपाल यादव को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अखिलेश चाहते हैं कि अमर सिंह को पार्टी से निकाला जाए। सीएम ने जिन लोगों को कैबिनेट से निकाला उन सभी पर अमर सिंह का करीबी होने का आरोप लगाया था।

पढ़ें सोशल मीडिया पर समाजवादी महाभारत पर जनता ने किए कैसे-कैसे ट्वीट-

ट्विटर ट्रेंड में अखिलेश यादव ने अपने पिता मुलायम सिंह यादव को पीछे छोड़ दिया। (स्क्रीनशॉट) ट्विटर ट्रेंड में अखिलेश यादव ने अपने पिता मुलायम सिंह यादव को पीछे छोड़ दिया। (स्क्रीनशॉट)

 

ट्विटर ट्रेंड में पहले मुलायम सिंह यादव अपने बेटे अखिलेश यादव से आगे थे। (स्क्रीनशॉट) ट्विटर ट्रेंड में पहले मुलायम सिंह यादव अपने बेटे अखिलेश यादव से आगे थे। (स्क्रीनशॉट)

 

Read Also: अखिलेश और शिवपाल यादव ने छीने एक-दूसरे के माइक, औरंगजेब कहे जाने पर यूपी सीएम की MLC से झड़प

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 24, 2016 4:01 pm

सबरंग