ताज़ा खबर
 

AAP समर्थकों ने ट्रेंड चलाया ‘आम आदमी पार्टी एक सोच’, लोगों ने इस तरह उड़ाया मजाक

आप समर्थकों की ओर से ट्विटर पर #आम_आदमी_पार्टी_एक_सोच हैशटैग चलाकर पार्टी को एकजुट दिखाने की कोशिश शुरू हुई।
कई यूजर्स ने इस हैशटैग का प्रयोग पार्टी और अरविंद केजरीवाल पर तंज कसने के लिए किया है। (Source: PTI/Twitter)

दिल्‍ली नगर निगम चुनावों में हार के बाद आत्‍ममंथन की राह पर निकली आम आदमी पार्टी शनिवार (29 अप्रैल) को ट्विटर यूजर्स के निशाने पर आ गई। दरअसल, शनिवार को ही पार्टी एमसीडी चुनावों में हार के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्वीकार किया कि उनसे ‘गलती हुई’ और पार्टी ‘आत्मनिरीक्षण कर इसकी जांच करेगी।’ केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, “पिछले दो दिनों में मैंने कई स्वयंसेवियों और मतदाताओं से बात की। वास्तविकता स्पष्ट है।” उन्होंने कहा, “हां, हमने गलतियां कीं, लेकिन हम आत्मनिरीक्षण कर इन्हें दुरुस्त करेंगे।” केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, “आत्ममंथन करने का समय है। ऐसा नहीं करना गलती होगी। हम मतदाताओं और स्वयंसेवियों के आभारी हैं।” उन्होंने कहा, “बहानेबाजी का नहीं, काम करने की जरूरत है।” इसके बाद आप समर्थकों की ओर से ट्विटर पर #आम_आदमी_पार्टी_एक_सोच हैशटैग चलाकर पार्टी को एकजुट दिखाने की कोशिश शुरू हुई, मगर उल्‍टे उसका मजाक उड़ने लगा।

बहुत सारे यूजर्स ने अभिनेत्री विद्या बालन के शौचालय बनवाने के लिए बनाए गए विज्ञापन की पंक्ति ‘जहां शौच, वहां शौचालय’ का इस्‍तेमाल कर आप पर तंज कसे। अशोक दीक्षित ने कहा, ”#आम_आदमी_पार्टी_एक_सोच नही बल्कि शौचालय हैं ,और ठग गिरोह का एक जीता जागता राजनीतिक रूप हैं इससे सावधान रहिए, सतर्क रहिए, सुरक्षित रहिए।” अविनाश ने कहा, ”समय है अभी भी राजनीति करने के तरीके को बदले नही तो पतन में समय नही लगेगा।” अरविंद ने लिखा, ”नकारात्मक विचारधारा से ओतप्रोत #आम_आदमी_पार्टी_एक_सोच सिद्धांतविहीन और प्रोपोगंडा में लिप्त एक राजनीतिक बोझ !”

केजरीवाल ने दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) में भाजपा की जीत के बाद यह प्रतिक्रिया दी है। भाजपा ने एमसीडी की 270 सीटों में से 181 पर जीत दर्ज की थी, जबकि आप 48 और कांग्रेस 30 पर ही सिमट गई। आप को दो साल बाद ही दिल्ली में बड़ी हार का सामना करना पड़ा। पार्टी ने इससे पहले 2015 में दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों के लिए हुए चुनाव में 67 सीटें जीती थीं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने हालांकि इसे (केजरीवाल का) ‘नया ड्रामा’ करार दिया है। तिवारी ने केजरीवाल के 49 दिन के कार्यकाल के बाद इस्तीफा देने का उदाहरण देते हुए कहा, “केजरीवाल ने ऐसा पहले भी किया है।” उन्होंने कहा कि लोग उनकी ‘गिरगिट की तरह रंग बदलने’ की प्रवृत्ति को अच्छे से समझ जाएंगे।

MCD चुनाव नतीजे 2017: मोदी लहर ने किया कांग्रेस-आप का सफाया: 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग