May 24, 2017

ताज़ा खबर

 

AAP नेता ने कहा- बिना EVM खोले मंत्र फूंककर कैसे हैक करें, एक ने पूछा- कंप्‍यूटर खोलके हैक करते हैं क्‍या?

संजय ने पीसी में कहा,'' जब EC कह रहा है कि मदरबोर्ड नहीं बदला जा सकता तो वे इतने नियम कानून क्यों लगा रहे हैं?"

दिल्‍ली में ईवीएम की निष्‍पक्षता का डेमो देते मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त नसीम जैदी। (Source: PTI/Twitter)

आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग द्वार ईवीएम हैकिंग प्रतियोगिता को समझ से परे बताया है। पार्टी ने कहा है कि ‘बिना ईवीएम खोले उसे हैक कैसे करेंगे।’ पार्टी नेता संजय सिंह ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा, ”आज जो EVM को हैक करने का चैलेंज चुनाव आयोग ने दिया है उसमें जरा सी भी स्पष्टता नहीं है। हैकॉथन का मतलब होता है कि हैकर्स को खुली छूट दी जाये कि वो कुछ भी करे और EVM को हैक करके दिखाये। हम फिर से EC से निवेदन करते हैं कि लोकतंत्र में विश्वास बनाये रखने के लिये खुली छूट के साथ अपने सामने हैकॉथन का मौका दे। अगर EVM को खोलने नहीं देंगें उसके पुर्जे को समझने नहीं देंगे तो मंत्र पढ़ कर बाहर से तो EVM को हैक तो किया नहीं जा सकता। EVM को टैम्पर करने के 100 तरीके हैं जिसमें से एक है मदरबोर्ड को बदल देना जो कि हमने विधानसभा में करके दिखाया था। जो पाबंदी EC लगा रहा है EVM को टैम्पर के लिये क्या उसी शर्त के साथ हमारी वाली मशीन को वो टैम्पर करके दिखा सकते हैं?”

संजय ने पीसी में कहा,” जब EC कह रहा है कि मदरबोर्ड नहीं बदला जा सकता तो वे इतने नियम कानून क्यों लगा रहे हैं? हम तो कह रहे हैं कि मदरबोर्ड बदल कर टैम्परिंग की जा सकती है, क्या हमें मदरबोर्ड बदलने का अधिकार EC देने को तैयार है? जब तक EVM खोली नहीं जायेगी, ये कैसे पता चलेगा कि क्या उसमें गड़बड़ हुई है या नहीं? चुनाव आयोग कहता है कि मदरबोर्ड नहीं बदला जा सकता, हमें मशीन खोलने दें अगर हम नहीं बदल सके तो हम गलत साबित होंगे।”

संजय सिंह ने अपना यह सवाल ट्वीट भी किया। उन्‍होंने लिखा, ”अरे भाईसाहेब जब मशीन छूने ही नही देगा चुनाव आयोग तो कौन सा मंतर पढ़ कर HACk किया जायेगा? मशीन खोलकर देखने दीजिये तब पता चलेगा खेल।” इस पर लोगों ने उन्‍हें ट्रोल करना शुरू कर दिया। एक ट्रोल अकाउंट ने पूछा, ”हैक करना मतलब EVM खोलना नहीं होता गेण्डे, कंप्यूटर खोलकर हैक करते किसी को सूना है क्या मंदबुद्धि?” एक अन्‍य यूजर ने पूछा, ”वोट देने वाला क्या मशीन खोलकर उसको हैक कर फिर वोट डालता है?” एक अन्‍य यूजर ने कहा, ”#Rensomware ने पूरी दुनिया मे 100 से ज्यादा देशो के कंप्यूटर हैक कर लिए थे, आपियों के हिसाब से वो लोग इतने देशों के सारे कंप्यूटर खोल आये।”

देखें, संजय के ट्वीट पर यूजर्स ने क्‍या कहा:

संजय सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ”EC अगर नियम व शर्तें लगाकर EVM हैक करने की चुनौती दे रहा है तो वो हाथ-पैर बाँधकर समुद्र पार करने की चुनौती जैसा है। सर्वदलीय बैठक में भी जो सवाल मनीष (सिसोदिया) ने उठाये थे उसका भी सवाल चुनाव आयोग के पास नहीं था। प्रश्न AAP का नहीं, लोकतंत्र का है और EC को T.N. सेशन जी के काल जैसे कदम उठाने और उसे दोहराने की जरूरत है।”

EVM की विश्वसनीयता पर उठे सवालों के जवाब में चुनाव आयोग का ओपन चैलेंज- "आइए EVM की जांच करें"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on May 20, 2017 8:27 pm

  1. R
    Rahul
    May 21, 2017 at 9:07 am
    Jaahil bhakto EVM net se connect nahi hai ki us mai virus daal dea. Yeh ek Machine hai jisko khool kar hi hack Kia jaa sakta hai. Agar tum log bhakt ho toa seedhe bolo jaleebi ki tarah kyu ghooma rahe ho. Tumhare ghar ka TV kharab hai toa kya bina khoole hi thik kar sakte ho Ya computer mai hardware problem hai toa bina khool kar hi thik kar sakte ho
    Reply
    1. D
      Dhananjai
      May 21, 2017 at 8:36 am
      Sanjay singh and kejariwal bilkul boka hai...pata nahi ye behuda engg kaise p kar liya.ye to bol raha tha ki 90 minutes dedo aur koi bhi evm hack kar dega.ab kya huwa....Ab tumko machine kholne ka awasar dede.gadha kahi kaa
      Reply
      1. R
        raj kumar
        May 21, 2017 at 7:35 am
        ye aap wale janta ko kya murkh samajhte hen or kya chaahte he ki kya chunav ayog inko machine sath le jane de taki kahin se bhi jod tod karke jhuthe hi bhram phela de ki hamne machine hek kar li he are midi ke kad ka to bano utne gun to peda karo kahi esa na ho ki rajiv hi ki tarah agle chunav me bhatta hi beth jaye rajiv hi ne 89 me 190 seat lakar bhi vipach me bethe the tum to is layak bhi nahi ho
        Reply
        1. A
          AK
          May 20, 2017 at 9:28 pm
          यदि हेक करने के लिए मशीन खोलना जरूरी है तो रेन्समवेयर से डरने की जरूरत नही है । कितने से देश का पाला पड़ा है
          Reply

          सबरंग