ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी का वसुंधरा राजे पर तंज- मैडम चीफ मिनिस्टर, यह 2017 है 1817 नहीं

राजस्थान सरकार सोमवार से शुरू होने जा रहे विधान सभा सत्र में जजों, मजिस्ट्रेटों और अन्य सरकारी अधिकारियों, सेवकों को सुरक्षा कवच प्रदान करने वाला बिल पेश करेगी।
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी। (File Photo)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने विवादास्पद अध्यादेश पर राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर तंज कसा है। उन्होंने सोशल मीडिया ट्विटर पर लिखा है कि मैडम चीफ मिनिस्टर यह 2017 है साल 1817 नहीं। इंडियन एक्सप्रेस की खबर शेयर करते हुए राहुल गांधी ने लिखा है, “मैडम चीफ मिनिस्टर, विनम्रतापूर्वक कहना है कि हमलोग 21वीं सदी के 2017 में जी रहे हैं, 1817 में नहीं।”

बता दें राजस्थान सरकार सोमवार (23 अक्टूबर) से शुरू होने जा रहे विधान सभा सत्र में जजों, मजिस्ट्रेटों और अन्य सरकारी अधिकारियों, सेवकों को सुरक्षा कवच प्रदान करने वाला बिल पेश करेगी। यह बिल हाल ही में लाए गए अध्यादेश का स्थान लेगी। इसके मुताबिक ड्यूटी के दौरान उठाये गये किसी भी कदम के खिलाफ राज्य के किसी भी कार्यरत जज, मजिस्ट्रेट या सरकारी अधिकारियों के खिलाफ कोई भी शिकायत सरकार की इजाजत के बगैर दर्ज नहीं की जा सकेगी। ट्विटर पर इसके खिलाफ जबर्दस्त गुस्सा देखने को मिल रहा है।

कांग्रेस के अलावा आम आदमी पार्टी समेत कई विपक्षी दलों का आरोप है कि राज्य सरकार का ये बिल भ्रष्ट अधिकारियों को कानूनी संरक्षण देने की सरकारी साजिश है। ट्विटर पर वसुंधरा राजे के खिलाफ तुगलकी महारानी ट्रेंड कर रहा है। सोशल मीडिया राजस्थान सरकार के इस प्रस्तावित कानून को फ्री स्पीच का भी उल्लंघन भी बता रहा है। राहुल गांधी के कमेंट पर भी कई लोगों ने प्रतिक्रिया दी है और उन्हें ट्रोल करने की कोशिश की है। एक यूजर ने लिखा है, “कांग्रिस पूरी ताक़त झोंक दे गोबर को हलवा बनाने की लेकिन पप्पू पीछे नहीं हटेगा. कांग्रिस की समाप्ति तय।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.