December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

पहली बार बिना ड्राइवर के ट्रक ने पहुंचाया सामान, तय किया दो घंटे में 193 किमी का सफर

ट्रक से अमेरिका के कोलोराडो में बीयर की डिलिवरी करनी थी, जिसे ट्रक ने सुरक्षित अपने स्थान तक पहुंचा दिया।

यह ट्रक अपने कैमरा, रडार और सेंसर के उपयोग से चलता है।

कैब सुविधा देने वाली कंपनी उबर की एक यूनिट ने ऐसा ट्रक तैयार किया है जिसे चलाने के लिए ड्राइवर की जरूरत नहीं है। इतना ही नहीं, ट्रक ने काम करना भी शुरू कर दिया है। इसे बनाने वाले सेल्फ ड्राइविंग टेक्नोलॉजी कंपनी Otto ने मंगलवार को बताया कि बिना ड्राइवर वाले इस ट्रक ने पहली डिलिवरी कर दी है। ट्रक से अमेरिका के कोलोराडो में बीयर की डिलिवरी करनी थी, जिसे ट्रक ने सुरक्षित अपने स्थान तक पहुंचा दिया। कंपनी ने बताया कि पिछले हफ्ते 18 पहिंयों वाले इस स्वचालित ट्रक ने भीड़-भाड़ वाली सड़कों से होते हुए दो घंटे में 193 किलोमीटर का सफर सुरक्षित तय किया।

हालांकि डिलिवरी के दौरान ट्रक में एक प्रोफेशनल भी मौजूद था, लेकिन वह ड्राइवर की सीट के पीछे बर्थ पर लेटकर सिर्फ ट्रक की गतिविधियों पर नजर रख रहा था। दरअसल यह ट्रक अपने कैमरा, रडार और सेंसर के उपयोग से चलता है। यह पता लगा लेता है कि उसके आगे और पीछे सवारी कितनी दूरी पर है। कंपनी ने कहा कि ट्रक को दो घंटे का सफर तय करना था, बाहरी इलाकों में जहां ट्रक खुद चलता रहा, वहीं जटिल जगहों पर ड्राइवर ने भी इसे चलाया।

वीडियो में देखिए, जापान की यामाहा और कैशियो ने दिखाई अपनी नई तकनीक

Read Also: भारतीय बाजार में जल्द आएगा देश का सबसे महंगा स्कूटर, 9.40 लाख होगी कीमत

इन दिनों खुद से चलने वाली कारों और ट्रकों को लेकर काफी विकास हो रहा है। गूगल, टेस्ला मोटर्स, जीएम और फोर्ड जैसी कंपनिया इसपर लगातार काम कर रही हैं। ऑन डिमांड कार सेवा मुहैया कराने वाली कंपनी उबर भी इस मामले में कैसे पीछे रहती। बता दें कि उबेर ने 18 अगस्त को स्वीडन के कार निर्माता कंपनी वोल्वो के साथ 30 करोड़ डॉलर का सौदा किया था, जिसके तहत साल 2021 तक पूर्ण ड्राइवर रहित कार को विकसित किया जाएगा। इसके अलावा उबेर ने सैन फ्रांसिस्को की स्टार्टअप ओट्टो का भी अधिग्रहण किया था, जिसने इस ड्राइवररहित ट्रक को विकसित किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 26, 2016 8:39 am

सबरंग