ताज़ा खबर
 

क्‍यों लंबे होते हैं सांप, वैज्ञानिकों ने किया कारण खोज निकालने का दावा

इस बात की खोज इस बात पर रिसर्च करते हुई कि चुहियों के धड़ असामान्‍य रूप से लंबे या छोटे क्‍यों होते हैं।
लिस्‍बन, पुर्तगाल के Instituto Gulbenkian de Ciencia (IGC) में यह रिसर्च की गई है। (Source: Prashant Nadkar/Indian Express)

क्‍या आप जानते हैं कि सांप इतने लंबे क्‍यों होते हैं? वैज्ञानिक भी इसी सवाल का जवाब खोजने के लिए सालों से रिसर्च कर रहे थे। अब उन्‍होंने पता लगाया है कि इसके लिए सिर्फ एक ही जीन जिम्‍मेदार है। Oct4 जीन स्‍टेम कोशिकाओं पर नियंत्रण रखता है और रीढ़ वाले प्राणियों के शरीर के मध्‍य भाग या धड़ की वृद्धि को प्रभावित करता है। सापों में सरीसृप विकास की वजह से Oct4 आमतौर पर होने वाली भ्रूण विकास से ज्‍यादा समय तक ‘ऑन’ रहता है। लिस्‍बन, पुर्तगाल के Instituto Gulbenkian de Ciencia (IGC) की डॉ् रीता आयर्स ने डेली मेल को बताया, ”शरीर के विभिन्‍न हिस्‍सों का निर्माण जीनों के बीच किसी कड़ी प्रतियोगिता जैसा होता है। धड़ को बनाने वाले जीन धीरे-धीरे काम करनाा बंद कर देते हैं ताकि पूंछ बनाने वाले जीन अपना काम शुरू कर सकें। सांपों के मामले में, हमने पाया है कि Oct4 भ्रूण विकास के लंबे समय के दौरान एक्टिव रखा जाता है, इससे यह बात भी साफ हो जाती है कि सांप का धड़ इतना लंबा क्‍यों होता और उनकी पूंछ छोटी क्‍यों होती है।’ ‘

रिसर्चर्स के मुताबिक, एक क्रमागत बदलाव के तहत Oct4 जीन को DNA क्षेत्र के ठीक बाद रखा गया है, इस वजह से ‘ऑन’ रहता है। इस बात की खोज इस बात पर रिसर्च करते हुई कि चुहियों के धड़ असामान्‍य रूप से लंबे या छोटे क्‍यों होते हैं। वैज्ञानिकों का दावा है कि सांपों के शरीर को लंबा रखने में Oct4 की भूमिका से रीढ़ की हड्डी के पुर्ननिर्माण पर नई रोशनी पड़ सकती है। मेडिकल क्षेत्र में हुई उन्‍नति से यह पता चलता है कि रीढ़ की हड्डी में चोट की वजह से तंत्रिका तंत्र को कुछ हद तक रिपेयर करना संभव है, मगर ऊतकों को फिर से उगाना और तंत्रिकाओं की ‘फिर से वायरिंग करना’ अभी भी दूर की कौड़ी है। कोशिकाओं की वृद्धि के लिए जिम्‍मेदार जेनेटिक अवयवों को पहचान कर इन बाधाओं को पार किया जा सकता है।

READ ALSO: स्‍पीकर सुमित्रा महाजन पर भड़के मुलायम, कहा- हंसी में बात टाल रही हैं, बड़े-बड़े स्‍पीकर देखे हैं हमने

शोध का नेतृत्‍व करने वाली डाॅ. मोइसेस मेलो ने कहा, ”हमने एक महत्‍वपूर्ण बात पता की है जो कि धड़ के निर्माण में एक्टिव रहने तक असीमित वृद्धि प्रदान करती है। अब हम इस बात की जांच करेंगे कि क्‍या हम Oct4 जीन और उसे नियंत्रित करने वाले DNA क्षेत्र का प्रयोग रीढ़ की हड्डी को बनाने वाली कोशिकाओं को बढ़ाने के लिए कर सकते हैं या नहीं, ताकि चोट की अवस्‍था में उसे फिर से बनाया जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.