ताज़ा खबर
 

अगर आपके स्मार्टफोन और टैब में आ गया है वायरस तो ऐसे हटाएं

मैसेज आदि से आए किसी भी लिंक से ऐप डाउनलोड न करें। इसलिए ध्यान दें कि कहीं से भी ऐप डाउनलोड करने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी जुटा लें।
गूगल प्ले स्टोर से बाहर का कोई भी ऐप डाउनलोड नहीं करना चाहिए।

स्मार्टफोन यूजर्स के लिए वायरस सबसे बड़ी दिक्कत होती है। स्मार्टफोन में अक्सर वायरस आ जाता है। वायरस आने के पीछे एक कारण है। कुछ ऐसे ऐड्स होते हैं, जो आपको गलत जानकारी देते हुए दिखाते हैं कि आपके फोन में वाइरस है और इसे ठीक करने के लिए हमारा ऐप डाउनलोड कर लीजिए। इसके अलावा कई बार फोन में अन्य तरह की गड़बड़ियां भी आ जाती हैं, जिससे वह ठीक से काम नहीं करता। मगर इसका मतलब यह नहीं कि एंड्रॉयड फोन एकदम सेफ होते हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि कैसे स्मार्टफोन को वायरस की चपेट में आने से बचाया जा सकता है।

हर जगह से ऐप न डाउनलोड करें: वाइरस कैसा भी हो, एंड्रॉयड में वह ऐप्स के जरिए ही आता है। आपके फोन या टैब में वाइरस हो तो सबसे पहले ऐप्स चेक करें। गूगल प्ले स्टोर से बाहर का कोई भी ऐप डाउनलोड नहीं करना चाहिए। मेसेज आदि से आए किसी भी लिंक से ऐप डाउनलोड न करें। इसलिए ध्यान दें कि कहीं से भी ऐप डाउनलोड करने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी जुटा लें। अगर कोई ऐप खोलने पर फोन हैंग हो रहा हो या अजीब तरीके से व्यवहार कर रहा हो, संभावना है कि वह वाइरस हो। उसे हटाने की कोशिश करें, अगर कोई दिक्कत आए तो समझ जाइए कि यह मैलवेयर है।

फैक्टरी रीसेट करें: अपने​ स्मार्टफोन की सेटिंग्स में जाएं और सिक्यॉरिटी ऑप्शन में जाकर Unknow Sources (allow installation of apps from unknown sources) को डिसेबल रखें। डिसेबल नहीं है तो डिसेबल कर दें। आप एंटीवायरस ऐप भी इंस्टॉल कर सकते हैं। 360 मोबाइल सिक्यॉरिटी और Avast जैसे कई ऐप्स हैं। अगर कोई ऐसा वाइरस ऐप आ गया है तो अनइंस्टॉल ही नहीं हो रहा तो फैक्टरी रीसेट करें, यह हट जाएगा लेकिन फोन वैसा हो जाएगा, जैसा यह खरीदने पर मिला था। मतलब फोन का पूरा डेटा डिलीट हो जाएगा।

डेटा गंवाए बिना ऐसे हटाएं वाइरस: अपने फोन या टैबलट को सेफ मोड पर डालें। इस मोड में थर्ड पार्टी ऐप्स और वाइरस रन नहीं कर पाते। सेफ मोड में फोन कैसे डालना है, इसके लिए गूगल पर How to put (यहां अपने फोन के मॉडल का नाम लिखें) into safe mode सर्च करें और इंस्ट्रक्शन फॉलो करें। सेफ मोड में जाने के बाद आपको स्क्रीन के लेफ्ट बॉटम पर Safe Mode लिखा मिलेगा। अब Settings में जाकर Apps पर जाएं और Downloaded टैब खोलें। यहां चेक करें कि कौन से ऐप को आपने इंस्टॉल नहीं किया है या फिर जो ऐप हट नहीं रहा हो, उसे तलाशें। उस ऐप पर टैप करें और Uninstall कर दें। आमतौर पर यहीं से ज्यादातर वाइरस हट जाते हैं। मगर कई बार ऐसे ऐप्स का Uninstall बटन ग्रे नजर आता हो। ऐसा तब होता है, जब वाइरस ने खुद को ऐडमिन स्टेटस दे दिया हो।

ऐसे हटाएं ऐडमिन स्टेटस वाले वाइरस को : सेफ मोड में जिस ऐप का अनइंस्टॉल बटन न दिख रहा हो, उसे हटाने के लिए Apps को एग्जिट करें और सेटिंग्स में Security > Device Administrators में जाएं। यहां पर उन ऐप्स की लिस्ट मिल जाएगी, जिन्हें ऐडमिनिस्ट्रेटर स्टेटस मिला है। जिन ऐप्स को हटाना है, उनका यह स्टेटस टैप करके हटा दें। इसके बाद आप वापस Apps मेन्यु में जाएं और Uninstall पर टैप करके उस संदिग्ध ऐप को हटा दें। अब सेफ मोड से बाहर जाने के लिए फोन को फिर से रिस्टार्ट कर दें।

 

रिलायंस जियो ने पेश किया ये नया ऑफर, मुफ्त में करा पाएंगे प्राइम मेंबरशिप रिचार्ज, ये है तरीका, देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.