December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

अब खत्म होगी रिलायंस Jio ग्राहकों की कॉल ड्रॉप समस्या? कंपनी ने निकाला यह तरीका

5 सितंबर को कमर्शियली लॉन्च हुए रिलांयस जियो ने वेलकम ऑफर के तहत मुफ्त सर्विस देकर काफी ग्राहक जोड़े हैं। लेकिन ग्राहकों को वॉयस कॉलिंग में आ रही दिक्कत और कॉल ड्रॉप की समस्या से जूझना पड़ रहा है।

कंपनी 31 दिसंबर तक यूजर्स को अनलिमिटेड 4जी इंटरनेट, एसएमएस, कॉलिंग और जियो ऐप्स की सुविधा फ्री में दे रही है।

रिलायंस जियो ने अपने फ्री 4जी डेटा वाले वेलकम ऑफर से टेलिकॉम बाजार और ग्राहकों के बीच पिछले दो महीनों में काफी सुर्खियां बटौरी हैं। लेकिन जियो ग्राहकों को वॉयस कॉलिंग में आ रही दिक्कत और कॉल ड्रॉप की समस्या से जूझना पड़ रहा है। हालांकि अब रिलायंस जियो इंफोकॉम ने ग्राहकों की इस समस्या का समाधान ढूंढ लिया है। कंपनी ने अपने 4जी नेटवर्क को मजबूत करने के लिए 6 महीने के अंदर 45,000 मोबाइल टावर लगाने का फैसला लिया है। एक आधिकारिक सूत्र ने बताया, ‘टेलिकॉम मिनिस्टर मनोज सिन्हा के साथ मीटिंग में रिलायंस जियो ने कहा कि वह अपने नेटवर्क को मजबूत करने के लिए छह महीने में 45,000 मोबाइल टावर लगाएगा। कंपनी का कहना है कि वह अगले 4 साल में एक लाख करोड़ रुपए का निवेश करेगी। नए टावर लगाने की योजना भी उस इनवेस्टमेंट का ही एक हिस्सा है।’

सूत्र के मुताबिक, रिलायंस जियो ने मंत्री को बताया कि वह पहले ही 1.5 लाख करोड़ रुपए का निवेश कर देश भर में 2.82 लाख बेस स्टेशन स्थापित कर चुकी है। इसके जरिए कंपनी 18,000 से ज्यादा शहरों और 2 लाख गांवों को कवर करेगी। इस मामले में रिलायंस जियो की ओर से फिलहाल कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। लेकिन रिपोर्ट के मुताबिक जियो ने कहा कि वह ग्राहकों को बेहतर अनुभव देने के लिए पूरे प्रयास कर रहा है। लेकिन, इंटरकनेक्टिविटी के मामले में एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया से सहयोग न मिलने के कारण कॉल कटने की दर ज्यादा हो गई है।

वीडियो मे देखिए, जियो सिम खरीदने का ये है तरीका

गौरतलब है कि रिलायंस जियो ने आरोप लगाया था कि वोडाफोन, एयरटेल और आइडिया इंटरकनेक्टिविटी पर उसका सहयोग नहीं कर रही है, जिसपर पिछले दिनों ट्राई ने इन कंपनियों पर 3,500 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाने की सिफारिश की थी। मामले पर विस्तृत चर्चा करने के लिए ट्राई ने मंगलवार को बैठक बुलाई थी, जिसमें एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया ने हिस्सा लिया था। तीनों कंपनियों ने इस मसले पर अपनी राय रखी और जुर्माने की सिफारिश का विरोध किया। इस पर ट्राई के चेयरमैन आरएस शर्मा ने कंपनियों से इस मामले को आपस निपटाने की सलाह दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 3, 2016 10:32 am

सबरंग