ताज़ा खबर
 

Reliance Jio Reality Check: कॉलिंग के लिए इस पर निर्भर हैं तो कभी भी खा सकते हैं धोखा

आधिकारिक तौर पर लॉन्च हुए जियो सिम को अभी 20 दिन भी नहीं हुए और जो यूजर्स जियो सिम इस्तेमाल कर रहे हैं उनकी शिकायतें शुरू हो गई हैं।
Author September 21, 2016 10:59 am
महिला ने अश्लील क्लिप बनाकर किया ब्लैकमेल (चित्र का इस्‍तेमाल सिर्फ प्रस्‍तुतिकरण के लिए किया गया है।)

रिलायंस जियो ने 5 सितंबर से अपनी कमर्शियल सर्विस शुरू की है। फिलहाल कंपनी 31 दिसंबर तक अनलिमिटेड वॉयस कॉलिंग, 4जी डेटा, एसएमएस और जियो ऐप जैसी सुविधाएं मुफ्त में दे रही है। जियो का सिम खरीदने के लिए लोगों को लंबी-लंबी लाइनें लगानी पड़ रही हैं और सिम एक्टिवेट होने के लिए भी कई लोग हफ्ते भर इंतजार करने को तैयार हैं।

आधिकारिक तौर पर लॉन्च हुए जियो सिम को अभी 20 दिन भी नहीं हुए और जो यूजर्स जियो सिम इस्तेमाल कर रहे हैं उनकी शिकायतें शुरू हो गई हैं। अधिकतर लोगों का कहना है कि सबसे ज्यादा दिक्कत वॉयस कॉलिंग में हो रही है और इंटरनेट स्पीड भी पहले से स्लो हो गई है। हमनें इसी रियल्टी को चेक करने के लिए कुछ दिन के लिए जियो सिम का इस्तेमाल किया।

वॉयस कॉलिंग की रियल्टी:
वॉयस कॉल लगाने में बहुत ज्यादा दिक्कत हुई। कई बार लगातार 50 बार कोशिश करने पर भी फोन नहीं लगता और कभी पहली बार में ही फोन चला जाता है। हालांकि पहली या दूसरी बार में फोन लग जाए ऐसा बहुत कम बार हुआ। अधिकतर मामलों में कम से कम 10-15 बार तो कॉल करनी ही पड़ती है, वहीं जरूरी नहीं कि इतनी बार में फोन लग ही जाए। हालांकि एक बार फोन लग जाता है तो आराम से घंटो बात हो पाती है।

इंटरनेट स्पीड:
जब हमारा कनेक्शन शुरू हुआ था उस समय इंटरनेट की स्पीड करीब 22-23 एमबीपीएस की मिल रही थी, लेकिन धीरे-धीरे यह कम होती जा रही है। वहीं एक इलाके से दूसरे इलाके में जाने पर भी स्पीड अलग-अलग हो सकती है। फिलहाल जिस जगह पहले दिन हमें 23 एमबीपीएस स्पीड मिल रही थी उसी जगह आज 8 एमबीपीएस की स्पीड मिली।

जियो ऐप्स :
फिलहाल 31 दिसंबर तक जियो टीवी, जियो सिनेमा, जियो म्यूजिक जैसी कुछ ऐप्स भी मुफ्त में दी गई हैं। जियो टीवी और सिनेमा ऐप्स को इस्तेमाल करने का अनुभव काफी अच्छा रहा। इस पर आप लाइव टीवी तो देख ही सकते हैं, साथ ही जो शो निकल चुका उसे भी देख पाएंगे। लेकिन यह ऐप्स इंटरनेट के जरिए ही चल पाती हैं, ऐसे में अगर स्पीड अच्छी नहीं होगी तब इन ऐप्स का कोई फायदा नहीं है।

निष्कर्ष :
जियो की वॉयस कॉलिंग समस्या यूं ही बनी रही तो यह दूसरी कंपनियों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। फिलहाल लोग इस समस्या को इसलिए भी इग्नोर कर सकते हैं क्योंकि मुफ्त में सर्विस मिल रही है। लेकिन 1 जनवरी से इसके लिए पैसे लगेंगे तो जाहिर है लोग बेहतर सर्विस चाहेंगे। हालांकि यह भी कहा जा सकता है कि ऐसा ज्यादा यूजर्स की वजह से हो रहा है। क्योंकि अभी सर्विसेज फ्री होने की वजह से ज्यादा से ज्यादा लोग इसे इस्तेमाल कर रहे हैं और जब पैसे लगने लगेंगे तो लोगों की तादाद कम हो जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.