December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

…तो रिलायंस Jio मार्च 2017 तक के लिए बढ़ा सकती है फ्री ‘वेलकम ऑफर’

वेलकम ऑफर के तहत कंपनी फिलहाल 31 दिसंबर तक मुफ्त में अनलिमिटेड वॉयस कॉलिंग, एसएमएस, जियो ऐप्स सब्सक्रिप्शन समेत अनलिमिटेड 4जी इंटरनेट की सुविधा दे रही है।

कंपनी 31 दिसंबर तक यूजर्स को अनलिमिटेड 4जी इंटरनेट, एसएमएस, कॉलिंग और जियो ऐप्स की सुविधा फ्री में दे रही है।

रिलायंस जियो इंफोकॉम अपने यूजर्स को 31 दिसंबर तक के लिए वेलकम ऑफर दे रही है। इसमें जियो ग्राहकों को साल के अंत तक मुफ्त में अनलिमिटेड वॉयस कॉलिंग, एसएमएस, जियो ऐप्स सब्सक्रिप्शन समेत अनलिमिटेड 4जी इंटरनेट की सुविधा मिल रही है। लेकिन अब खबर आ रही है कि कंपनी इस ऑफर को 31 दिसंबर की जगह मार्च तक कर सकती है।

व्यापार के अंग्रेजी अखबार इकॉनमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक, बाजार के एक्सपर्ट ने बताया कि कंपनी अपने 100 मिलियन ( 10 करोड़) ग्राहकों के लक्ष्य को पाने के लिए यह कदम उठा सकती है। बाजार विशेषज्ञ मोतिलाल ओसवाल ने कहा, “बड़ी स्तर पर चल रहे जियो के वेलकम ऑफर को कंपनी मार्च 2017 तक बढ़ा सकती है। इससे कंपनी को और अधिक ग्राहक जोड़ने में सहायता मिलेगी और कंपनी अपने 10 करोड़ ग्राहकों के टारगेट को पा सकेगी। इसके बाद कंपनी 130-140 रुपए प्रति जीबी की कीमतों को लागू कर सकेगी।”

वीडियो मे देखिए, जियो सिम खरीदने का ये है तरीका

Read Also: trai के टेस्ट में ‘फेल’ हुई रिलायंस Jio 4जी की स्पीड, 5 कंपनियों में रही सबसे नीचे

रिलायंस जियो ने हाल ही में दावा किया था कि एक महीने के भीतर ही 1.6 करोड़ ग्राहक कंपनी के नेटवर्क से जुड़ गए हैं। बता दें कि भारत के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो को 5 सितंबर से कमर्शियल तौर पर शुरू किया गया था। कंपनी ने 31 दिसंबर तक वेलकम ऑफर और उसके बाद लाइफटाइम फ्री कॉलिंग की पेशकश की थी। हालांकि पर्याप्त इंटरकनेक्शन प्वाइंट ना मिलने के चलते वॉयस कॉलिंग में असुविधा हो रही है।

Read Also: क्या फर्क है रिलायंस जियो के Blue और Orange पैक में, यहां जानिए

कंपनी के बारे में बताते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा था कि “कंपनी का लक्ष्य मार्च 2017 तक देश की 90 प्रतिशत आबादी तक पहुंचने का है। उन्होंने कहा कि था कि कंपनी भारतीय दूरसंचार क्षेत्र में पहली बार वॉयस कॉलिंग पूरी तरह नि:शुल्क करने जा रही है। यदि जियो के दबाव में दूसरी कंपनियां भी वॉयस कॉलिंग नि:शुल्क करने पर विवश होती हैं तो यह देश में कॉलिंग क्रांति से कम नहीं होगा।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 24, 2016 11:48 am

सबरंग