December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

एप्‍पल ने बनाए हैं दो तरह के आईफोन 7, दोनों की स्‍पीड में है आठ गुना का अंतर, जानिए क्‍या है पहचान

आईफोन 7 के 128जीबी वेरिएंट की सेविंग डाटा स्पीड 341एमबीपीएस रीड की गई वहीं, आईफोन 7 के 32जीबी वाले वेरिएंट की सेविंग डाटा स्पीड 42एमबीपीएस रीड की गई।

एप्पल के आईफोन 7 और आईफोन 7 प्लस के 32जीबी और 128जीबी वेरिएंट्स की स्पीड में आठ गुना का अंतर सामने आता है।

एप्पल के 32जीबी आईफोन 7 वेरिएंट की स्पीड में इसके 128जीबी वाले वेरिएंड की तुलना में आठ गुने का अंतर है। आईफोन 7 का 32जीबी वेरिएंट इसके 128जीबी वाले वेरिएंट से धीमा का करता है। दो अलग अलग टेस्टिंग साइट्स ने जांच के दौरान पाया कि आईफोन 7 का 32जीबी वेरिएंट की स्पीड इसके 128जीबी वेरिएंट की तुलना में 200एमबीपीएस है। टेस्ट के दौरान आईफोन 7 के 128जीबी वाले वर्जन की स्पीड 856एमबीपीएस पायी गयी वहीं, 32जीबी वाले वेरिएंअ की स्पीड 656एमबीपीएस रीड की गई।

वहीं, सेविंग डाटा स्पीड के मामले में दोनों वेरिएंट्स की स्पीड में आठ गुने का अंतर पाया गया। आईफोन 7 के 128जीबी वेरिएंट की सेविंग डाटा स्पीड 341एमबीपीएस रीड की गई वहीं, आईफोन 7 के 32जीबी वाले वेरिएंट की सेविंग डाटा स्पीड 42एमबीपीएस रीड की गई। यह टेस्ट GSMArena और Unbox Therapy साइट्स द्वारा किया गया। सेल्यूलर इनसाइट द्वारा किए गए टेस्टिंग में आईफोन 7 प्लस के अलग अलग वेरिएंट्स में भी सेल्यूलर परफॉर्मेंस में अंतर पाया गया। इस टेस्ट के लिए यूके और यूरोप में बने आईफोन 7 प्लस के अलग अलग वेरिएंट्स की तुलना अमेरिका में बने आईफोन 7 प्लस के अलग अलग वेरिएंट्स से की गयी। टेस्ट रिजल्ट में पाया गया कि यूरोप और यूके में बने A1778 और A1784 मॉडल्स में अमेरिका में बने A1660 और A1661 की तुलना में नेटवर्क कनेक्शन वीक पाया गया है।

वीडियो: एयरटेल के नए बंपर ऑफर के तहत 259 रुपए में मिलेगा 10जीबी 3G/4G डाटा; जानिए कैसे

आईफोन 7 प्लस के अमेरिका में बने मॉडल्स की तुलना में यूके-यूरोप में बने मॉडल्स में नेटवर्क की यह प्रॉब्लम मोडेम चिप की वजह से है। इन चिप के जरिए ही फोन वॉयरलेस सिग्नल्स के माध्यम से डाटा ट्रांसमीट कर पाता है। यूके-यूरोप में बने आईफोन 7 प्लस के मॉडल्स में इंटेल कंपनी का मोडेम चिप इस्तेमाल हुआ है। वहीं, अमेरिका में बने मॉडल्स में क्वॉलकम कंपनी का मोडेम चिप लगाया गया। इंटेल चिप वाले मॉडल्स में नेटवर्क स्ट्रेंथ क्वॉलकम मोडेम चिप वाले मॉडल्स की तुलना में 75 प्रतिशत खराब है। इस टेस्ट के बाद खराब नेटवर्क और स्लो डाटा स्पीड के लिए सिर्फ दूरसंचार कंपनियों को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता बल्कि फोन निर्माता कंपनियां भी इसके लिए जिम्मेदार हो सकती हैं।

Read Also: क्लास में बैठा था छात्र, पॉकेट में रखे आईफोन में लग गई आग

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 24, 2016 8:47 pm

सबरंग