December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

चंद सेकेंडों में चार्ज होगा आपका स्मार्टफोन, हफ्ते भर तक नहीं करना पड़ेगा दोबारा चार्ज

इस तकनीक के तहत तैयार होने वाली बैटरी सुपरकैपिस्टर्स से बनी होगी। इसमें ज्यादा एनर्जी स्टोर की जा सकत है। यह देखने में किसी धातु की पतली परत जैसा होता है और उसका साइज नाखून के जितना होता है।

Charging: जब आपका फोन 40 तक का चार्ज हो तभी इसे फिर से चार्ज कर लें। इससे बैटरी पूरी तरह खत्म होने से बचती है और इसकी लाइफ बढ़ती है। हालांकि कभी भी फोन को फुल चार्ज नहीं करना चाहिए और कभी-कभी इसे पूरी तरह डाउन भी होने देना बेहतर होगा।

स्मार्टफोन यूज करने वालों की समस्या बड़ी समस्या बैटरी को लेकर होती है। उनकी हमेशा शिकायत रहती है कि फोन की बैटरी ज्यादा देर नहीं चलती। बैटरी ज्यादातर तक न चलने के कारण फोन बंद हो जाता है और तब आपको परेशानियों का सामना करना पड़ता है। लेकिन अब आपकी यह दिक्कत दूर जाएगी। यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट्रल फ्लोरिडा के शोधकर्ताओं ने ऐसी तकनीक खोज निकाली है, जिसके जरिए आपका फोन कुछ सेकेंड्स में चार्ज हो जाएगा। इसके साथ ही आपकी बैटरी ही हफ्तों तक चलेगी।

शोधकर्ताओं के मुताबिक इस तकनीक के तहत तैयार होने वाली बैटरी सुपरकैपिस्टर्स से बनी होगी। इसमें ज्यादा एनर्जी स्टोर की जा सकत है। यह देखने में किसी धातु की पतली परत जैसा होता है और उसका साइज नाखून के जितना होता है। इसका इस्तेमाल फोन्स, इलेक्ट्रिक वाहनों और वियर एबल्स (पहनने योग्य) आइटम में होता है। यह बहुत ज्यादा मात्रा में एनर्जी को स्टोर करके रख सकता है। एक छोटी बैटरी को 30 हजार बार चार्ज किया जा सकता है। जबकि वर्तमान में मोबाइल फोन्स में लिथियम आयन बैटरी का इस्तेमाल किया जाता है, जिन्हें की कुछ सौ बार ही चार्ज किया जा सकता है।

रिसर्चरों का दावा है कि लिथिमय आयन बैटरियां 1500 से ज्यादा बार चार्ज नहीं की जा सकती है। वर्तमान में जितनी भी बैटरियां मार्केट में उपलब्ध है कि कोई 7000 से ज्यादा बार चार्ज नहीं हो सकती। इस नई तकनीक के खोज में शामिल नितिन चौधरी ने बताया कि अगर इन बैट्ररियों को सुपरकैपिस्टर्स से बदल दिया जाए तो आप कुछ ही सेकेंड्स में मोबाइल फोन को चार्ज कर सकते हैं और एक बार चार्ज करने के बाद आपको एक हफ्ते से ज्यादा समय तक फोन को दोबारा चार्ज करने की जरुरत नहीं होगी।

यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट्रल फ्लोरिडा के वैज्ञानिकों की टीम इस दिशा में काम कर रही है कि सुपरकैपिस्टर्स का इस्तेमाल बतौर बैटरी कैसे हो। चौधरी ने बताया कि बैटरी अभी इस्तेमाल के लिए तैयार नहीं है। ये टीम उसी दिशा में आगे बढ़ रही है। यह खबर उन स्मार्टफोन यूजर्स के लिए बड़ी खुशखबरी है जो बार-बार मोबाइल चार्जिंग की समस्या से जूझते हैं।

वीडियो मे देखिए, जियो सिम खरीदने का ये है तरीका

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 23, 2016 5:30 pm

सबरंग