ताज़ा खबर
 

गीत: चुपके चुपके सर्दी आई

आशा शर्मा के गीत।
Author November 20, 2016 03:08 am
वसंत ऋतु

चुपके चुपके सर्दी आई

दबे पांव लो सर्दी आई
अब निकलेगी नर्म रजाई
पहले गर्मी फिर बारिश की
चुपके-चुपके हुई विदाई

नाक जमेगी छींक चलेगी
धूप गुनगुनी भली लगेगी
मूंगफली का राज रहेगा
आइसक्रीम की कमी खलेगी

सूरज का टाइम बदलेगा
अब कुछ देरी से निकलेगा
मम्मी के गुस्से से डरता
दिन ढलते ही घर घुस लेगा
ले कर अपनी ऊन-सलाई
धूप में खटिया बिछवाई
स्वेटर-टोपी, मफलर-मोजे
दादी ने की शुरू बुनाई
सर्दी से न यों घबराओ
बस थोड़ी सी जुगत लगाओ
रंग-बिरंगे फल-तरकारी
खा के तनदुरुस्त हो जाओ

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग